आगामी 04 व 05 फरवरी को टीकाकरण करते हुए हेल्थ वर्कर्स का वैक्सीनेशन कार्य किया जाए पूर्ण- मुख्यमंत्री

 
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश में कोविड संक्रमण की स्थिति पूरी तरह नियंत्रित है। संक्रमण की दर में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज किए जाने के बावजूद अभी भी प्रत्येक स्तर पर पूरी सतर्कता बरतना आवश्यक है। उन्होंने कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कोविड प्रोटोकॉल के अनुपालन में कहीं ढिलाई न होने पाए।

मुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव तथा उपचार की प्रभावी व्यवस्था बनाए रखी जाए। कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस का कार्य सतत जारी रखा जाए। उन्होंने कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जनपदों में स्थापित इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर को पूरी सक्रियता से संचालित किया जाए। कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में लोगों को निरन्तर जागरूक किया जाए। जागरूकता सृजन के लिए विभिन्न प्रचार माध्यमों सहित पब्लिक एड्रेस सिस्टम का उपयोग किया जाए।

कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में टेस्टिंग की महत्वपूर्ण भूमिका पर बल देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 की टेस्टिंग का कार्य पूरी क्षमता से संचालित किया जाए। विधान मण्डल के आगामी सत्र से पूर्व सभी सदस्यों एवं कार्मिकों का कोविड-19 टेस्ट कराया जाए। उन्होंने ई-संजीवनी एप का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश देते हुए कहा कि इस एप के माध्यम से अधिक से अधिक जरूरतमंदों को ऑनलाइन चिकित्सीय परामर्श की सुविधा प्रदान की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के तहत आगामी 04 व 05 फरवरी को टीकाकरण की कार्यवाही करते हुए हेल्थ वर्कर्स का वैक्सीनेशन कार्य पूर्ण किया जाए। हेल्थ वर्कर्स के वैक्सीनेशन के पश्चात कोरोना फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीनेट किया जाना है। इसके लिए सभी आवश्यक तैयारियां समय से सुनिश्चित की जाएं। उन्होंने कोविड वैक्सीनेशन अभियान को भारत सरकार की गाइडलाइन्स एवं मानकों के अनुरूप संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार