मुख्यमंत्री ने यूपी 112 परियोजना के द्वितीय चरण हेतु सभी जरूरी कार्यवाही समय से पूर्ण करने के दिये निर्देश

 


लखनऊः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी 112 परियोजना के द्वितीय चरण हेतु सभी जरूरी कार्यवाही समय से सुनिश्चित किये जाने के निर्देश दिये है। उल्लेखनीय है कि इस वर्ष जून माह में इस परियोजना के प्रथम चरण का कार्यकाल पूर्ण हो रहा है।

अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी की अध्यक्षता में गत दिवस कमाण्ड सेण्टर लोक भवन में यूपी 112 एवं शासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सम्पन्न उच्च स्तरीय बैठक में इस परियोजना के द्वितीय चरण हेतु फरवरी के अन्त तक विस्तृत परियोजना रिर्पोट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये।

उल्लेखनीय है कि यूपी 112 परियोजना को और अधिक जनोपयोगी बनाने के साथ-साथ इसके संसाधनों में बढ़ोत्तरी कर कई नयी योजनाओं यथा वीमेन पावर लाइन 1090, जी0आर0पी0, फायर सर्विस, 181 से भी इसका एकीकरण किया गया है। औद्योगिक प्रतिष्ठानों को सुरक्षित माहौल देने के लिए ‘लिंक’ सेवा शुरू की जा रही है।

ग्रामीण अंचल के स्थानीय लोगों से अधिक प्रभावी सम्पर्क बनाने हेतु उनकी भाषा में बातचीत करते हुए उत्तर देने हेतु अवधी, ब्रज, बुन्देली आदि क्षेत्रीय भाषाओ में संवाद किये जाने की व्यवस्था की शुरूआत की गई है। बाहर से प्रदेश भ्रमण पर आने वाले पर्यटकों को किसी भी आपात स्थिति में बातचीत मे सुगमता हेतु 18 विदेशी भाषाओं में बात करने की सुविधा भी उपलब्ध कराई गई है। 

बैठक में यह भी निर्देश दिये गये कि इस परियोजना के द्वितीय चरण के लिये गठित वर्किंग ग्रुप एक सप्ताह में अपनी रिर्पोट तैयार कर ले। इस परियोजना के द्वितीय चरण हेतु सलाहकार आबद्ध किये जाने की कार्यवाही में भी तेजी लाने के निर्देश दिये गये।

उल्लेखनीय है कि यूपी 112 के द्वितीय चरण के लिये वर्किंग ग्रुप के गठन के सम्बन्ध में शासन द्वारा पूर्व में ही निर्देश जारी किये जा चुके है। बैठक में जानकारी दी गई कि शासन के निर्देशों के क्रम में अपर पुलिस महानिदेशक की अध्यक्षता में तीन बैठकें भी आयोजित की जा चुकी है। 

यूपी 112 के अन्तर्गत संचालित चार पहिया वाहनों में संचार व सम्पर्क हेतु 3200 मोबाइल फोन पुलिस मुख्यालय स्तर से यूपी 112 को वर्ष 2016 में उपलब्ध कराये गये थे। इन मोबाइल फोन का उपयोग 24 घंटे निरन्तर किये जाने के फलस्वरूप अब इनमें से अधिकांश कार्य योग्य नहीं रह गये है, जिनके स्थान पर नये सेट खरीदने के निर्देश दिये गये। 

बैठक में यूपी 112 व प्राइवेट सुरक्षा एजेंसी के लिंक किये जाने सम्बन्धी कार्य में अब तक हुई प्रगति की समीक्षा की गयी। यूपी 112 से अपेक्षा की गयी है कि वो अपना कनेक्टिविटी का कार्य प्रारम्भ कर दे। 

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न