मुख्यमंत्री ने कोविड-19 से बचाव एवं उपचार की प्रभावी व्यवस्था बनाए रखने के दिए निर्देश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 से बचाव एवं उपचार की प्रभावी व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के सम्बन्ध में पूरी सावधानी बरतना आवश्यक है। इसके दृष्टिगत समस्त कार्यवाही सुचारु ढंग से जारी रखी जाए।

मुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि समस्त कोविड चिकित्सालयों में व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त रखा जाए। कोविड चिकित्सालयों में औषधियों, मेडिकल उपकरणों तथा ऑक्सीजन की बैकअप सहित पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। कोरोना टेस्टिंग कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश देते हुए कहा कि कोविड-19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने में टेस्टिंग कार्य की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि सर्विलांस सिस्टम तथा कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग का कार्य पूरी सक्रियता से किया जाए। उन्होंने कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में जागरूकता कार्यक्रम को जारी रखने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में '108' तथा '102 एम्बुलेंस सेवाओं को बेहतर किए जाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि इतनी विशाल एम्बुलेंस सेवा को केन्द्रीकृत नहीं रहना चाहिए। एम्बुलेंस सेवा के सुचारु संचालन के लिए इसे विकेन्द्रीकृत किए जाने पर विचार करना चाहिए। उन्होंने सभी अस्पतालों में साफ-सफाई की विशेष व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्तमान में पल्स पोलियो अभियान संचालित किया जा रहा है। अभियान के प्रथम दिन प्रदेश में पोलियो बूथ पर 0-5 वर्ष आयु के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलायी गई। दूसरे दिन अर्थात आज से, अभियान के छठे दिन तक टीमों द्वारा घर-घर भ्रमण कर लक्षित आयु वर्ग के बच्चों का पोलियो टीकाकरण किया जाएगा। उन्होंने इस कार्य को प्रभावी ढंग से संचालित करने के निर्देश दिए।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार