देशभर के केन्‍द्रीय विद्यालयों में छात्रों की उपस्थिति में वृद्धि

देशभर के केन्‍द्रीय विद्यालयों ने विभिन्‍न कक्षाओं के अपने छात्रों के साथ आमने-सामने रहकर पठन-पाठन का काम शुरू कर दिया है। गृह मंत्रालय और राज्‍य सरकारों द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप केन्‍द्रीय विद्यालयों को अक्‍टूबर के महीने से चरणबद्ध रूप से खोला जा रहा है।

देशभर के सभी केन्‍द्रीय विद्यालयों से 11 फरवरी, 2021 को एकत्र आंकड़ों के अनुसार 9वीं कक्षा के औसत 42 प्रतिशत छात्र, 10वीं कक्षा के औसत 65 प्रतिशत छात्र, 11वीं कक्षा के 48 प्रतिशत छात्र और 12वीं कक्षा के 67 प्रतिशत छात्र स्‍कूलों में उपस्थित हो रहे हैं। इन आंकड़ों से संकेत मिलता है कि छात्रों की उपस्थिति में दिन प्रति दिन वृद्धि हो रही है। जिन राज्‍य सरकारों ने जूनियर कक्षाओं के लिए भी स्‍कूल खोलने की अनुमति दे दी है, वहां भी कुछ केन्‍द्रीय वि़द्यालयों में कक्षा 1 से 8 तक की पढ़ाई शुरू हो गई है।

छात्रों अथवा अभिभावकों की किसी भी शंका का समाधान करने के लिए स्‍कूलों ने माता-पिता और अभिभावकों के साथ नियमित संपर्क करना शुरू कर दिया है। छात्रों को उनके अभिभावकों की पूर्व अनुमति से ही स्‍कूलों में उपस्थित होने की मंजूरी दी जा रही है।

राज्‍य और केन्‍द्र सरकारों द्वारा जारी एसओपी का कोरोना महामारी के दृष्टिकोण से पूरी तरह से पालन किया जा रहा है। सभी केन्‍द्रीय विद्यालयों को स्‍पष्‍ट सलाह दी गई है कि वे विभिन्‍न कक्षाओं के छात्रों के लिए अलग-अलग समय तय करें और उनका पालन करें। इसके साथ ही पर्याप्‍त सुरक्षा उपाय तथा कक्षाओं में उचित शारीरिक दूरी का भी पालन करें।

हालांकि, जो छात्र स्‍कूल में उपस्थित नहीं हो रहे हैं, उनके लिए ऑनलाइन कक्षाओं का विकल्‍प भी खुला है। छात्र विभिन्‍न डिजिटल मंचों के जरिये अपने अध्‍यापकों के संपर्क में भी हैं।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार