लोकतंत्र में इतना झूठ कोई नहीं बोला जितना भाजपा ने बोला है- पूर्व मुख्यमंत्री

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा ने लोकतांत्रिक व्यवस्था और संस्थानों का जितना नुकसान किया है उतना किसी ने नहीं किया है। भाजपा उत्तर प्रदेश की जनता का अपमान कर रही है। इसके कामकाज से समाज का हर वर्ग निराश है। जनता को धोखा दिया गया है। भाजपा सरकार अब जाने वाली है, वह अपनी विदाई को तैयार है।

अखिलेश यादव आज यहां पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में पत्रकार वार्ता को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा इस सरकार का सब कुछ झूठा फसाना है, नफरत फैलाना है। राजनीतिक लोगों पर मुकदमा लगाना है। लोकतंत्र में इतना झूठ कोई नहीं बोला जितना भाजपा ने बोला है। उत्तर प्रदेश सरकार केन्द्र की नकल की सरकार है। जैसे दिल्ली की राज्यसभा में कृषि बिल पारित कराया गया वैसे ही यूपी के उच्च सदन विधान परिषद में सदन के बहुमत के खिलाफ जाकर बिल बिना बात सुने पास कराए गए हैं। सदन में विपक्ष का बहुमत है और समाजवादी पार्टी के सभी एमएलसी तब धरने पर थे।

यादव ने कहा कि केन्द्र सरकार न तो अब 5 ट्रिलियन की बात करती है और नहीं उत्तर प्रदेश सरकार एक ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था की बात कर रही है। सतत् विकास की बात करने वाले नहीं बताते हैं कि अर्थव्यवस्था के लिए, इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए और विकास के लिए क्या किया है? भाजपाई तो अब अपने संकल्प पत्र को भी भूल गए हैं, उनसे क्या उम्मीद की जा सकती है। ये तो पहली सरकार हैं जो शिलान्यास का शिलान्यास, उद्घाटन का उद्घाटन और एमओयू का एमओयू करती है। अखिलेश यादव ने कहा भाजपा सरकार बताए कि इन्वेस्टमेंट मीट से कितना निवेश आया है, कोविड-19 के समय लाॅकडाउन में सरकार ने श्रमिकों की कितनी मदद की? तब कितने ही श्रमिकों ने रास्ते में दमतोड़ दिया था। 90 मृतकों के आश्रितों की मदद समाजवादी पार्टी ने ही की और प्रत्येक आश्रित को 1-1 लाख रूपए की सहायता दी।

लाकडाउन के समय ललितपुर में मुंबई से चलकर आयी गर्भवती महिला को प्रसवपीड़ा से बच्चा हुआ। उस पीड़त परिवार की मुंबई में समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अबू आसिफ आजमी ने 2 लाख रूपये की आर्थिक मदद की। मुख्यमंत्री की भाषा पूर्णतया असंसदीय है। उनके मुंह से पटककर मारना, ठोंकना सुनाई पड़ता है परन्तु बिजली, सुपर सिक्सटी क्रिटीकल थर्मल पावर प्लांट जैसे शब्द नहीं सुनने में आते हैं। सोलर एनर्जी की बात नहीं सुनाई देती। गरीब को इलाज नहीं मिल रहा है। समाजवादी पार्टी की सरकार में मंडिया बनी उनको भाजपा ने कितना बेहतर बनाया? गन्ना बकाया का भुगतान नहीं हुआ। स्मार्टसिटी कहां बनी? अस्पतालों में वेंटीलेटर डिब्बो में बंद है। जूता, स्वेटर बांटने में अनियमितताएं हुई है। किसान को एमएसपी कहां मिल रही है?

अखिलेश यादव ने कहा कि आर्थिक तंगी से महोबा, झांसी में किसानों ने आत्महत्या की। भाजपा सरकार ने युवाओं को लैपटाप नहीं बांटे। किसान निधि कहां गयी? समाजवादी पार्टी के 10 हजार कार्यकर्ताओं पर फर्जी मुकदमें लगा दिए गए हैं। किसान यात्रा के समय उनके घर के पास पुलिस छावनी बन गई थी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने लोगों की सुविधा, सम्मान और खुशहाली की योजनाएं नहीं बनाई है। उनकी मंशा प्राईवेट को ज्यादा मुनाफा कमाने देने की है। डीजल-पेट्रोल का मुनाफा कहां जा रहा है? राज्य की आमदनी कम तो भविष्य बेहतर कैसे होगा?

यादव ने कहा कि प्रदेश की जनता खुशहाली और विकास की राजनीति चाहती है। भाजपा सरकार तो अपने खिलाफ बात करने वालों को जेल भेजती है। बेटियों के साथ घटनाएं कैसे रोकी जाएं इस पर भाजपा को चिंता नहीं, मुख्यमंत्री अपने मुकदमें ही वापस लेने की फिक्र में लगे रहे, ऐसे में प्रदेश की कानून व्यवस्था कैसे सुधरती?

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार