अखिलेश यादव ने सीर गोवर्धन स्थित संत रविदास मंदिर पहुंच कर श्रद्धासुमन अर्पित किया

वाराणसी समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज वाराणसी में सीर गोवर्धन स्थित संत रविदास मंदिर पहुंच कर श्रद्धासुमन अर्पित किया। मंदिर के मुख्य द्वार पर रैदासियों ने राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का स्वागत किया।

उसके उपरांत संत रविदास मंदिर के मुख्य रैदासी स्वामी निरंजन दास ने यादव को आशीर्वाद दिया।यादव ने लंगर में प्रसाद भी ग्रहण किया। यादव ने कहा कि संत रविदास समता, बंधुत्व, सौहार्द और भेदभाव के विरोध की विचारधारा को बढ़ाने के लिए समाजवादी पार्टी कृतसंकल्प हैं। अखिलेश यादव का मानना है कि संत रविदास समाज सुधारक, महान क्रांतिकारी और स्वतंत्र चिंतक थे। उन्होंने पाखण्ड और कुरीतियों का डटकर विरोध किया। समाज में एकता, भाईचारा और समानता के लिए उनका पूरा जीवन समर्पित रहा। उनके अनुसार मानव सेवा ही वास्तविक धर्म है।

यादव का यह भी कहना है कि संत रविदास को मानने वाले शिष्य देश के सभी हिस्सों में मौजूद हैं। गुरू ग्रंथ साहब में उनके पद संग्रहित है। श्रम की प्रतिष्ठा को वे सर्वोपरि मानते थे। संत रविदास ने भाईचारा, सद्भावना, समानता और करूणा का संदेश दिया। ‘मन चंगा तो कठौती में गंगा‘ का सूत्र देने वाले संत रविदास का जीवन दर्शन पूरे समाज के लिए प्रेरणादायक है। समाजवादी पार्टी प्रदेश कार्यालय लखनऊ में भी संत रविदास की जयंती सादगी से मनायी गयी।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार