देश को बेचने वाला, उधोगपतियों का है बजट- संजय सिंह


लखनऊ। आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद एवं उत्तर प्रदेश के प्रभारी संजय सिंह ने मोदी सरकार के बजट को देश को बेचने वाला बजट करार देते हुए कहा कि इसमें आम नागरिकों एवं किसानों को पूरी तरह से नजरअंदाज किया गया है। यह देश के 130 करोड़ लोगों का नहीं, बल्कि के मोदी के चार पूंजीपति मित्रों के लिए बना बजट है।
 
संजय सिंह ने कहा कि महंगाई की मार झेल रही आम जनता के लिए यह बजट और मुश्किलें बढ़ाएगा। पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ने से सिंचाई से लेकर माल ढुलाई तक सब महंगा हो जाएगा। सरकार ने इस बजट से आम आदमी को निराश किया है। इस बजट में नौकरी पेशा लोगों के लिए कुछ भी नहीं है। इस बजट में न तो कोई अतिरिक्त टैक्स छूट की घोषणा की गई और न ही टैक्स स्लैब में कोई सुधार किया गया। पेंट महंगा होगा। घरों में होने वाले पेंट, मोबाइल और चार्जर महंगे होंगे। एयरपोर्ट, सड़क, बिजली ट्रांसमिशन लाइन और वेयरहाउस बेचे जाएंगे। रेलवे का डेडिकेटेड फ्रेड कॉरिडोर बिकेगा। गेल, आईओसी और एचपीसीएल के पाइपलाइन एसेट बिकेंगे।
 
सरकारी बैंक सहित एक जनरल इंश्योरेंस कंपनी भी बिकेगी। संजय सिंह ने ट्वीटर पर भी कहा कि सपूत संपत्ति बनाता है, कपूत संपत्ति बेचता है। यह पूरी तरह से देश को बेचने का बजट है। संजय सिंह बोले, प्रधानमंत्री पूछना चाहता हूं कि यह बजट किसके लिए बनाया है। क्या इसे अपने चार पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए बनाया है? देश की जनता यह समझ रही है कि आप 130 करोड़ लोगों के प्रधानमंत्री नहीं है, बल्कि अपने चार पूंजीपति मित्रों के प्रधानमंत्री हैं और उन्हीं के हाथ देश की संपत्ति को गिरवी रखना चाहते हैं। यह आज के बजट में साफ तौर से दिख गया है। मोदी का नारा पहले- "मैं देश नहीं बिकने दूंगा" था, अब यह- "मैं देश नहीं बचने दूंगा" हो गया है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार