हर कोई व्यस्त है अपने-अपने शौक में


आज किसी के पास फुर्सत नहीं है, सब लोग व्यस्त हैं। अपने अपने काम में व्यस्त हैं। फालतू की प्राथमिकताएं बना रखी हैं। कोई कहीं भाग रहा है कोई कहीं भाग रहा है। कोई रेडियो में कोई टेलीविजन में कोई कंप्यूटर में कोई मोबाइल में कोई व्हाट्सएप में कोई फेसबुक में, हर आदमी कहीं ना कहीं व्यस्त है।

कोई खाने-पीने में कोई शॉपिंग में कोई और अपने अपने शौक में हर व्यक्ति व्यस्त है। इस व्यस्तता के कारण आज लोगों के पास अपने मित्रों संबंधियों से मिलने का समय ही नहीं है। जिसका दुष्परिणाम यह हो रहा है कि आपस में संबंध कमजोर हो रहे हैं। कुछ समय में परिणाम यह होगा कि संबंध टूटने लगेंगे।

यदि आप संबंधों की रक्षा करना चाहते हैं तो मित्रों से संबंधियों से मिलने के लिए समय निकालें। उनके साथ बैठें, बातें करें। सुख दुख का हाल-चाल पूछें। एक दूसरे की सहायता करें, तभी संबंध बच पाएंगे।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां