मिशन रोजगार अभियान के अंतर्गत रोजगार समितियों की बैठकों का आयोजन किया जाये सुनिश्चित- मुख्य सचिव

लखनऊ। मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में उ0प्र0 कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) आयोग की कार्यकारी परिषद/बोर्ड की बैठक संपन्न हुई, जिसमें अपर मुख्य सचिव श्रम एवं सेवायोजन सुरेश चन्द्रा, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया।
 
अपने संबोधन में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि मिशन रोजगार अभियान के अंतर्गत गठित जिला रोजगार समितियों की साप्ताहिक बैठकें हों तथा प्रत्येक जनपद अपना रोजगार प्लान अवश्य बनाये। उन्होंने कहा कि जिन जनपदों का अभी तक रोजगार प्लान तैयार न हुआ हो वह अगले एक सप्ताह में इसको जरूर बना लें। उन्होंने सभी विभागों से मिशन रोजगार अभियान के अंतर्गत नोडल अधिकारी नामित कर रोजगार की कार्ययोजना अपलोड किये जाने तथा पोर्टल पर रोजगार से सम्बन्धित डाटा की प्रविष्टि की समीक्षा किये जाने के निर्देश दिये।
 
मुख्य सचिव ने कहा कि सभी विभागों द्वारा आउटसोर्सिंग के पदों पर भर्ती जेम पोर्टल के माध्यम से ही वेण्डर का चयन कर की जाये। उन्होंने कहा कि वेण्डर सेवायोजन पोर्टल पर अपना पंजीयन अवश्य करायें तथा पंजीयन के उपरान्त वेण्डर द्वारा रिक्तियां सेवायोजन पोर्टल पर अपलोड की जायेंगे। उक्त रिक्तियों के सापेक्ष वेण्डर को तीन गुना अभ्यर्थी सेवायोजन पोर्टल से उपलब्ध हो जायेंगे। केवल इन्हीं अभ्यथिर्याें में से वेण्डर द्वारा चयन कर सम्बन्धित विभाग को मैनपावर उपलब्ध कराया जायेगा तथा चयनित अभ्यर्थियों का परिणाम भी सेवायोजन पोर्टल पर अपडेट किया जायेगा। उन्होंने कहा कि यदि वेण्डर सेवायोजन पोर्टल के माध्यम से मैनपाॅवार नहीं लेते हैं, तो उनके विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाये।
 
इससे पूर्व बैठक में बताया गया कि बस्ती, बिजनौर, चन्दौली, शाहजहांपुर, अंबेडकरनगर, सिद्धार्थनगर में जिला रोजगार समिति की सर्वाधिक बैठकें कर कार्यवृत्त पोर्टल पर अपलोड किया गया है। 20 विभागों द्वारा 2579 आउटसोर्सिंग हेतु रिक्तियां पोर्टल पर अपलोड की गई हैं। एकीकृत सेवायोजन पोर्टल रोजगार संगम डेवलप किया जा चुका है तथा करीब 22500 अधिकारियों को सेवायोजन पोर्टल में लाॅगिन की सुविधा प्रदान की गई है। भारत सरकार के उन्नति पोर्टल से रोजगार संगम पोर्टल से इंटीग्रेशन का कार्य प्रगति पर है। सरकारी विभागों में आउटसोर्सिंग भर्तियों को समयबद्ध एवं पारदर्शी तरीके से कराये जाने की व्यवस्था कराई गई हैं।
 
इसके अतिरिक्त 31 जनवरी, 2021 तक 694 रोजगार मेलों के माध्यम से 83826 बेरोजगार अभ्यर्थियों को सेवायोजित कराया गया है तथा 1879 कैरियर काउंसलिंग कार्यक्रमों के माध्यम से 135471 अभ्यर्थियों/श्रमिकों की कॅरियर काउंसलिंग की गई। मिशन रोजगार अभियान के अंतर्गत माह मार्च, 2021 तक 50 लाख रोजगार/स्वरोजगार के अवसरों के सृजन का लक्ष्य है तथा अब तक 16 विभागों द्वारा कुल 29,32,763 रोजगार/स्वरोजगार प्रदान किये गये तथा 37,64,91,925 मानव दिवस रोजगार का सृजन किया गया है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां