किसानों की मांगे न मानकर भाजपा कर रही है हठधर्मी- अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से आज भी मिलने वालों का तांता लगा रहा। कई जनपदों से आए कार्यकर्ताओं और युवाओं से भेंटवार्ता के क्रम में उन्होंने सभी से सन् 2022 की चुनावी तैयारियों में जुट जाने का आव्हान किया। इन चुनावों से भविष्य की राजनीति की दशा-दिशा तय होगी। भाजपा के षडयंत्र से सावधान रहने की जरूरत है।

अखिलेश यादव ने कहा कि किसानों की मांगे न मानकर केन्द्र की भाजपा सरकार हठधर्मी कर रही है। कथित कृषि सुधार से सम्बन्धित तीनों कानूनों के कारण किसानों का भविष्य अंधेरे में खो जाएगा। किसानों की आने वाली पीढ़ियों के सामने काला अंधेरा होने वाला है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने और किसानों के बीच दीवार खड़ी कर लोकतंत्र की मूलभावना को ठेस पहुंचाई है। सरकार जनता के लिए होती है, जनहित की उपेक्षा करने वाली सरकार जनता की नहीं हो सकती है।

यादव ने कहा कई जनपदों में बेमौसम बरसात और ओलावृष्टि से गेहूं, सरसों और आलू की फसल को काफी क्षति पहुंची है। खेतों में खड़ी फसल चौपट हो गई है। किसानों को हुए नुकसान की भरपाई करने में भाजपा सरकार रूचि नहीं ले रही है। भाजपा सरकार को खेती की क्षतिपूर्ति करनी चाहिए। जनता को भरमाने के लिए एक नया अभियान भाजपा चला रही है जिसके तहत भाजपा के पदाधिकारी और डबल इंजन के मंत्रीगण केन्द्रीय बजट के बारे में जनता को बताएंगे। जनता बजट से पूरी तरह निराश है लेकिन भाजपा अपने बजट पर गुमराह कर रही है। किसान, नौजवान परेशान है।

अखिलेश यादव से आज तमिलनाडु से आए ईलूमलाई यादव एडवोकेट तथा आर सम्पत यादव ने भेंट की। उन्होंने अखिलेश यादव का शाल ओढाकर अभिनंदन किया और तमिलनाडु की ओर से शुभकामनाएं दी। तमिल नेताओं ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि प्रदेश की जनता सन् 2022 में यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार बनाएगी और अखिलेश जी मुख्यमंत्री बनेंगे।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां