सरकार के 4 साल नहीं पूरे हुए हैं, कानून के राज के खात्मे के हुए है चार साल- शाहनवाज आलम

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज आलम ने योगी सरकार के चार साल पूरा होने पर योगी और भाजपा सरकार पर बड़ा हमला बोला है। कहा कि योगी सरकार के चार साल नहीं पूरे हुए हैं बल्कि कानून के राज के खत्म होने का चार साल पूरा हुआ है। उन्होंने इसे सपा और बसपा के भी पूरी तरह भाजपा और संघ के आगे घुटने टेक देने के भी चार साल पूरे हुए हैं।

शाहनवाज आलम ने कहा कि यह चार साल समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी पूरी तौर पर भाजपा के पैरों में शरणागत होने के चार साल है, दोनों ही पार्टियों ने अमित शाह के कहने पर पिछले चार सालों में अकलियत सहित दलित-पिछड़े समुदाय के सवाल उठाने बंद कर दिए हैं। इन चार सालों में प्रदेश का कमजोर तबका, मुसलमान तबका सरकार से लड़ने वाले विपक्ष की तलाश कर रहा था और इस तलाश में समाजवादी पार्टी जो आंकड़ो के लिहाज से विपक्ष की पहली बड़ी पार्टी है और आंकड़ो के लिहाज से दूसरी बड़ी पार्टी  बसपा पूरी तरह फेल साबित हो चुकी है, सिर्फ कांग्रेस की प्रियंका गांधी के नेतृत्व में पिछले चार सालों से कमजोर तबकों सहित मुसलमानों के सवालो पर संघर्ष कर रही है।

शाहनवाज आलम ने आगे कहा कि इस पूरे दौर में कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी आजमगढ़ गयी, जहाँ सीएए आन्दोलन में महिलाओं के साथ मार पीट और बदसलूकी की गयी जबकि वहाँ के सांसद होने के बावजूद अखिलेश यादव उनसे मिलने नहीं गए। इसी तरह बिजनौर, मुजफ्फरनगर में भी एनआरसी विरोधी आंदोलन में मारे गए लोगों से मिलने प्रियंका गांधी ही गयीं। वहीं मायावती ने संसद के अंदर सीएए का विरोध करने के कारण अमरोहा के सांसद कुंवर दानिश अली को संसदीय दल के नेता के पद से हटा दिया।

ये घटनाएं साबित करती हैं कि इन चार सालों के भाजपा राज में सपा और बसपा भाजपा के साम्प्रदायिक एजेंडे के साथ खड़ी हैं और सिर्फ कांग्रेस ही जनता की आवाज उठा रही है। उन्होंने कहा कि यह चार साल सपा द्वारा मुसलमानों को धोखा दिए जाने और उनके हितों पर कुठारागात किये जाने के लिए भी याद रखा जायेगा।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार