यूपी की स्वास्थ्य व्यवस्था ध्वस्त- नीलम यादव


लखनऊ। स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सुल्तानपुर जिले में सामने आई है। यहां आठवीं पास कथित डॉक्टर ने डिलिवरी के दौरान केस बिगड़ने पर जच्चा-बच्चा को लखनऊ रेफर कर दिया। इस दौरान दोनों की मौत हो गई। आम आदमी पार्टी महिला विंग की प्रदेश अध्यक्ष नीलम यादव ने कई घटनाओं का जिक्र करते हुए यूपी की स्वास्थ्य व्यवस्था को ध्वस्त बताया।

नीलम ने कहा कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में अभूतपूर्व काम किया लेकिन उस मॉडल से सीख लेने के बजाय भाजपाई मजाक उड़ाते हैं। अब तक डॉक्टर की कुर्सी और मरीजों के बेड पर बैठने वाले कुत्ते अस्पतालों में शव भी नोचने लगे हैं। मुख्यमंत्री योगी के गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती एक मरीज की छत से गिरने से मौत हो गई। उसके शव को कुत्तों ने नोच लिया। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य ने भी यह स्वीकार किया है। जब योगी के गोरखपुर में ही यह हाल है, तो और जगहों की बुरी स्थिति समझी जा सकती है।

नीलम यादव ने योगी सरकार को घेरते हुए कहा कि यहाँ सरकारी स्वास्थ्य सेवा बदहाल है। सरकारी अस्पतालों में इलाज के लिए तीमारदारों को लंबी लंबी लाइनें लगानी पड़ रही है, न जांचे हो पा रही है, न दवाइयां मिलती है। सरकारी अस्पतालों में अवस्थाओं का अंबार लगा हुआ है, मरीज और तीमारदार इन सभी कुव्यस्थाओं के चलते प्राइवेट अस्पतालों में जेवर, गहना, जमीन जायदाद बेचकर इलाज कराने को मजबूर हैं। सरकार एक सुनियोजित षड्यंत्र के तहत सरकारी अस्पतालों में कुव्यवस्था फैलाकर  प्राइवेट अस्पतालों को फलने फूलने दे रही है।

अस्पतालों में मरीजों को बंधक बना लेना और तीमारदारों से मारपीट करना आम हो गया है। प्रदेश अध्यक्ष नीलम यादव ने कहा कि प्रदेश की जनता सब देख रही है। 2022 में योगी सरकार को बाजे गाजे के साथ विदा करने का मन बना चुकी है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार