प्रदेश सरकार विभिन्न अवस्थापना सुविधाओं के विकास में तेजी से कर रही है कार्य- मुख्यमंत्री

 
 
 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष आज यहां उनके सरकारी आवास पर नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट, जेवर के विकास के लिए गठित नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट लि0 (NIAL) तथा इसके विकास के लिए चयनित ज्यूरिक एयरपोर्ट इण्टरनेशनल ए0जी0 द्वारा गठित एस0पी0वी0 यमुना इण्टरनेशनल एयरपोर्ट प्रा0लि0 (YIAPL) के मध्य ‘स्टेट सपोर्ट एग्रीमेन्ट’ पर हस्ताक्षर किये गये।
 
राज्य सरकार की ओर से अपर मुख्य सचिव नागरिक उड्डयन एवं मुख्यमंत्री एस0पी0 गोयल, सचिव नागरिक उड्डयन एवं मुख्यमंत्री सुरेन्द्र सिंह, नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट लि0 (छप्।स्) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डाॅ0 अरुणवीर सिंह तथा नोडल आॅफिसर नोएडा एयरपोर्ट शैलेन्द्र कुमार भाटिया ने हस्ताक्षर किये। ज्यूरिक एयरपोर्ट इण्टरनेशनल ए0जी0 द्वारा गठित एस0पी0वी0 यमुना इण्टरनेशनल एयरपोर्ट प्रा0लि0 (ल्प्।च्स्) की ओर से सी0ई0ओ0 क्रिस्टाफ श्लेनमन, चीफ आॅपरेटिंग आॅफिसर किरन जैन और लीगल हेड शोभित गुप्ता ने हस्ताक्षर किये।
 
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि नोएडा इण्टरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट परियोजना को त्वरित गति से विकसित करने की दिशा में सभी पक्षों ने जो प्रतिबद्धता दिखाई है, वह एक नई कार्य संस्कृति को दर्शाती है। वर्तमान सरकार प्रदेश में विभिन्न अवस्थापना सुविधाओं के विकास में तेजी से कार्य कर रही है। आज प्रदेश में एक्सप्रेस वेज, एयरपोर्ट, विभिन्न नगरों में मेट्रो रेल, सड़कों का विकास किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार के प्रयासों से आज प्रदेश में एयर कनेक्टिविटी बढ़ी है। पहले जहां मात्र 02 एयरपोर्ट ही कार्यशील थे, अब 05 और नये एयरपोर्ट क्रियाशील हो गये हैं, जबकि बरेली का एयरपोर्ट 08 मार्च, 2021 से शुरु हो जाएगा। इसके अलावा, 17 अन्य जनपदों में एयरपोर्ट/एयरस्ट्रिप के विकास का कार्य चल रहा है। उन्होंने कहा कि प्रयागराज, गोरखपुर, सहारनपुर, मेरठ, श्रावस्ती, आजमगढ़ जैसे जनपदों से एयरकनेक्टिविटी की डिमाण्ड आ रही है। राज्य सरकार इस दिशा में कार्य कर रही है। 
 
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि जेवर एयरपोर्ट की स्थापना का मामला पिछले 30 वर्षाें से लम्बित था। मार्च, 2017 में वर्तमान सरकार द्वारा जेवर में एयरपोर्ट की स्थापना और विकास का निर्णय लिया गया, जिसे दिसम्बर, 2017 में मंत्रिपरिषद द्वारा अनुमोदित किया गया। उन्होंने कहा कि जेवर एयरपोर्ट के विकास की दिशा में हम निरन्तर प्रगति कर रहे हैं। यह परियोजना पी0पी0पी0 मोड में विकसित की जा रही है। इस एयरपोर्ट से सम्बन्धित सभी कार्य पूरी पारदर्शिता के साथ किये जा रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री कार्यालय को नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट परियोजना की नियमित समीक्षा करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष जब पूरी दुनिया कोविड-19 महामारी से जूझ रही थी, तब भी राज्य सरकार ने प्रदेश की आर्थिक प्रगति पर अपना ध्यान बनाए रखा।
 
बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर को नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट हेतु अधिग्रहीत भूमि पर स्थित गांव के निवासियों का पुनस्र्थापन व पुनव्र्यवस्थापन का कार्य अप्रैल, 2021 में पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने इस परियोजना के तहत प्रभावित होने वाले व्यक्तियों के पुनस्र्थापन व पुनव्र्यवस्थापन हेतु जेवर बांगर में विकास कार्याें को अप्रैल माह में पूर्ण कराने के निर्देश दिये। साथ ही, एस0पी0वी0 यमुना इण्टरनेशनल एयरपोर्ट प्रा0लि0 को कन्सेशन एग्रीमेन्ट के अनुसार 90 प्रतिशत भूमि का कब्जा मार्च, 2021 में ही देने के निर्देश दिये। उन्होंने नागरिक उड्डयन विभाग को नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट के विस्तारीकरण हेतु आवश्यक भूमि के अधिग्रहण हेतु मंत्रिपरिषद का अनुमोदन प्राप्त कर वित्तीय स्वीकृति जारी कर अधिग्रहण की कार्यवाही प्रारम्भ करने के निर्देश दिये।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार