रेलवे की फर्जी वेबसाईट बनाकर युवाओं को ठगनें वाले गिरोह का पर्दाफाश

लखनऊ। डी0के0 ठाकुर पुलिस आयुक्त लखनऊ महोदय के निर्देशानुसार प्राप्त सूचना पर संयुक्त रूप से गुजरात (राजकोट) की क्राइम ब्रांच व सर्विलांस टीम मध्य जोन लखनऊ के द्वारा थाना आलमबाग क्षेत्रान्तर्गत स्थित रेलवे की पुरानीं बिल्डिंग में फर्जी नियुक्ति पत्र के माध्यम से रेलवे में फर्जी नौकरी देनें के नाम पर बेरोजगार युवकों/ युवतियों से ठगी कर ट्रेनिंग सेन्टर संचालित किया जा रहा था।

उक्त सूचना पर संयुक्त टीम द्वारा मौके पर पहुंचकर अभियुक्तगणों को गिरफ्तार किया गया तथा रेलवे से सम्बन्धित कूटरचित दस्तावेज "मुहर व कम्प्यूटर" बरामद किये गये। पूछताछ के दौरान गिरफ्तार किये गये अभियुक्तगणों द्वारा बताया गया कि रेलवे की फर्जी वेबसाईट के माध्यम से आवेदन करनें वाले बेरोजगार युवकों/ युवतियों का आवेदन पत्र स्वीकार करके प्रति व्यक्तियों से 45 लाख रूपये लेकर फर्जी नौकरी दे दी जाती है तथा उनके कूटरचित रिजल्ट वेबसाईट पर अपलोड कर दिये जाते हैं, जिससे इन बेरोजगार युवकों, युवतियों नौकरी मिलनें का पूरा विश्वास हो जाता है कि मेरी नौकरी रेलवे में लग गयी है और इनसे पैसे ले लिये जाते हैं।

तदोपरांत भर्ती किये गये अभ्यर्थियों को थाना आलमबाग क्षेत्र में रेलवे कालोनी के अन्दर ही एक पुरानीं बिल्डिंग किराये पर लेकर प्रतिदिन ट्रेनिंग देनें का उपक्रम किया जाता था कि भोले-भाले अभ्यर्थियों को लगे कि वे वास्तव में नौकरी हेतु चयनित हो चुके हैं, दी जाती थी। गिरफ्तार किये गये अभियुक्तगणों से पूंछतांछ कर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन