भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का किया उद्घाटन

लखनऊ राजधानी लखनऊ में सोमवार को इन्दिरागांधी प्रतिष्ठान में भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का उद्घाटन पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष व रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने किया। बैठक की अध्यक्षता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने की।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डा. दिनेश शर्मा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रेखा वर्मा, राष्ट्रीय मंत्री विनोद सोनकर, राष्ट्रीय अध्यक्ष किसान मोर्चा राजकुमार चाहर, प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल, प्रदेश सह प्रभारी सत्या कुमार,संजीव चैरसिया, प्रदेश सह महामंत्री (संगठन) भवानी सिंह व कर्मवीर, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विनय कटियार, रमापतिराम त्रिपाठी, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व केन्द्रीय मंत्री डा. महेन्द्र नाथ पाण्डेय तथा प्रदेश सरकार के मंत्री सुरेश खन्ना भी उपस्थित रहे।

प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का उद्घाटन करने के बाद मुख्यअतिथि के रूप में बोलते हुए रक्षा मंत्री व भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने प्रदेश में होने वाले आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव में 2017 से भी बड़ी जीत दिलाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि पार्टी के कर्मनिष्ठ पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के बल पर प्रदेश में भाजपा का सांगठनिक ढांचा काफी मजबूत हुआ है। बूथ से लेकर पन्ना प्रमुख तक की इकाई ताकतवर है। इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में न्यू यूपी की परिकल्पना भी साकार हो रही है। ऐसे में न्यू इंडिया बनाने में न्यू यूपी का योगदान महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में चल  रही राज्य की भाजपा सरकार की सराहना करते हुए कहा कि राज्य की कानून व्यवस्था दुरूस्त हो गई है।

उन्होने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से लेकर भाजपा में काम करने के अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि किसी व्यक्ति का कद उसके पद से नहीं कृतियों से होता है। हम सभी के लिए यह सौभाग्य की बात है कि हम दुनिया के सबसे बड़े राजनीति दल भाजपा के कार्यकर्ता हैं। यह भी हकीकत है कि भाजपा अन्य दलों से भिन्न है। आज भाजपा पूरे विश्व में छा गई है। उन्होंने कहा कि भाजपा की विचारधारा है कि व्यक्ति को सहज और सरल होना चाहिए। उन्होंने कहा हम जाति पंथ की राजनीति नहीं करते इंसान और इंसानियत की राजनीति करते है। उन्होंने भारतीय जनसंघ से लेकर भाजपा की यात्रा और सत्ता में रहने के मौकों को विस्तार से रखा। कहा कि भाजपा सत्ता प्राप्त करने वाले कार्यकर्ताओं का झुंड नही है।

भाजपा ही की विशिष्ठ राजनीतिक विचारधारा है पार्टी का एक राजनीतिक दर्शन है। सभी राजनीतिक दलों का कभी न कभी विभाजन हुआ मगर भाजपा का आज तक कभी विभाजन नहीं हुआ। भाजपा एक ऐसा दल है जो मूल्यों और सिद्धान्तों की राजनीति करता है। इसी नाते आजादी के बाद देश में जितने दल बने उनका विभाजन हुआ। केवल अपने सिद्धान्तों पर चलने वाली भाजपा का विभाजन नही हुआ। उन्होंने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद और अन्त्योदय के सिद्धांत पर बोलते हुए कहा कि प्रदेश और केंद्र की सरकार इसी को आधार बनाकर कार्य कर रही है। उन्होंने कोरोना काल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उठाए गए कदमों को उदाहरण के रूप में रखते हुए कहा कि इसकी सराहना पूरी दुनिया में हो रही है। कोरोना के वक्त जब सिर्फ सौ मौतें हुई थी तब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने साहस दिखाते हुए पूरे देश में लाॅकडाउन का निर्णय लिया।

रक्षा मंत्री ने कहा की भारत ने 70 देशों को वैक्सीन मुहैया कराया है। देश में भी हर जन को वैक्सीन लगवाने की व्यवस्था की गई है। कोरोना संकट से निपटने के लिए देश के वैज्ञानिकों ने जो करिश्मा कर दिखाया है, वह उन पर नाज करने वाला है। उन्होंने प्रधानमंत्री द्वारा शुरू किए गए अमृत महोत्सव की सराहना करते हुए कहा कि इससे राष्ट्रीय स्वाभिमान की भावना जगेगी। उन्होंने कहा कि राजनीति में अविश्वास के संकट को भी भाजपा ने चुनौती के रूप में लिया है। धारा 370, तीन तलाक, समान नागरिक संहिता और श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के मामले को हल करके भाजपा ने जनता के विश्वास को जीता है। इसके अलावा भ्रष्टाचार को खत्म करने को लेकर भी प्रधानमंत्री ने अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है।

रक्षा मंत्री ने स्वच्छता अभियान, उज्जवला योजना, विद्युतीकरण, स्वास्थ्य सुरक्षा आदि योजना की चर्चा करते हुए कहा प्रदेश सरकार ने इन योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन करके गरीबों, दलितों और वंचितों का दिल जीतने का कार्य किया है। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास, सिंचाई संसाधन में इजाफा करने, महिलाओं के लिए समूह का गठन और कानून व्यवस्था के मुद्दे पर प्रदेश सरकार की पीठ थपथपाई। किसान आंदोलन के मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि एमएसपी खत्म करने का सवाल ही नहीं है। कुछ लोग इस मुद्दे पर भ्रम फैला रहे है। सरकार की मंशा किसानों की आय दोगुना करने की हैं। इसके लिए जो भी कदम जरूरी होंगे उठाए जायेंगे। रक्षा मंत्री ने चीन से सीमा विवाद के मुद्दे पर कहा कि भारत को वैश्विक महाशक्ति बनने से कोई रोक नहीं सकता। हमारे सेना के जवानों ने शौर्य, पराक्रम के साथ संयम का भी परिचय दिया है। हमने कभी किसी की जमीन पर कब्जा नही किया लेकिन यह भी सच है कि जरूरत पड़ने पर दूसरे की जमीन पर जाकर अपनी ताकत का अहसास कराने में भी भारत पीछे नही रहा है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार