भारतीय परंपरा में आनंद का उत्सव है होली का त्यौहार


होली के त्यौहार को भारतीय परंपरा में आनंद का उत्सव कहा जाए तो गलत नहीं होगा यह पर्व वातावरण में मौज मस्ती और हर्षोल्लास का रंग भर देता है वसंत ऋतु की विदाई का यह  त्योहार असलियत में जीवन की नीरसता दूर कर उस में मधुरता घोल देता है जिसमें प्रकृति नई नवेली दुल्हन की तरह खिल उठती है।

फागुन मन मस्त मतंग बयार बहै।
जियरा अठखेली खेल रहा।।
कहीं बोली से होली की आहट।
जियरा मन राग अलाप रहा।।
भौंरे मंत्रमुग्ध ह्वै कलियों पर। 
चहुँ ओर से मन ललचाय रहा।।
अँवराई में कोयल की लुका छिपी।
प्रियतम मन हरषाय रहा।।
हर रंग से रंग कर धरा सुहानी।
मन प्रमुदित हो इतराय रहा।|
फागुवा राग गूँज रहा जन जन।
मन मृग नैयनी देखि इठलाय रहा ||

आपकी प्रगति के रंग-बिरंगे पथ के निर्माण में एक रंग मेरी शुभकामनाओं का सपरिवार आपको होली शुभ एवं मंगलमय हो।।



             अजीत कुमार सिंह
  मान्यता प्राप्त पत्रकार/ सम्पादक
            खबरों का आंकलन
  समाचार पत्र एवं वैब न्यूज पोर्टल
         (khabronkaaaklan.page)
महासचिव नवभारत पत्रकार एसोसिएशन
 सदस्य यूपी वर्किंग जर्नलिस्ट्स यूनियन

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार