अबकी बार नमस्ते होली

लखनऊ पत्र सूचना कार्यालय लखनऊ की ओर से आज कोविड-19 टीकाकरण और इसकी दूसरी लहर को लेकर एक वेबिनार का आयोजन किया गया। किंग जार्ज मेडिकल विश्वविद्दालय के वरिष्ठ प्रोफेसर डा. सूर्यकांत ने मुख्य अतिथि के रुप में बोलते हुए कहा कि देश के पास कोविड-19 का पर्याप्त टीका मौजूद है। एक करोड़ लोगों को रोजाना टीका लगाया जा सकता है जबकि इस समय लगभग 30 लाख लोगों को ही रोजाना टीका लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पतालों के अलावा निजी क्षेत्र के चिन्हित अस्पतालों को भी 250 रुपये प्रति टीके की दर से टीका लगाने की इजाज़त दी गयी है। 

प्रोफेसर सूर्य कान्त ने कहा कि सरकारी अस्पतालों में जहां 60 साल की उम्र से ज्यादा वाले लोगों, 45 वर्ष की उम्र से ज्यादा के एसे लोग जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित है और फोकस्ड लोगों को टीका लगाया जाना चाहिये। वही निजी क्षेत्र के अस्पतालों में 18 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले सभी लोगों को टीका लगाने की सुविधा होनी चाहिये। टीकाकरण के साथ ही साथ करोना की दूसरी लहर से बचाव के भी उपाय किये जाने की भी ज़रुरत है। उन्होंने कहा कि आने वाले दो सप्ताह काफी चुनौतीपूर्ण होंगे। होली के  कारण लोग बड़ी संख्या में अपने घरों को जायेंगे। उन्होंने लोगो से अपील किया वे इस बार नमस्ते होली मनायें।

नेशनल होम्योपैथी मेडिकल कालेज लखनऊ के प्रोफेसर अमित नायक ने कहा कि कोविड-19 की वैक्सीन को लेकर लोगों के मन में किसी प्रकार की चिंता नहीं होनी चाहिये क्योंकि वैक्सीन के बारे में जो भी अफवाह फैलायी जा रही है वो पूरी तरह से बेबुनियाद है क्योंकि कोविड के दौरान फ्रंटलाइन वारियर रहे हेल्थ वर्कर्स डाक्टर और नर्सों ने बड़ी मात्रा में वैक्सीन लगवाई है जिसके परिणाम सकारात्मक है। विश्व स्वास्थय संगठन ने भी भारत में निर्मित वैक्सीन की तारीफ की है। यूनानी चिकित्सक डा. इस्लाम मोहम्मद तब्बाब ने कहा कि प्रतिरोधक क्षमता बढाकर कोविड-19 ही नहीं बल्कि सभी बीमारियों से बचा जा सकता है। उन्होंने यूनानी चिकित्सा पद्दति में इस्तेमाल की जाने वाली कई दवाइयों का उल्लेख भी किया।

इससे पहले प्रदेश में कोविड-19 टीकाकरण के प्रभारी अजय घई ने कहा कि प्रदेश में टीकाकरण सुचारु रुप से चल रहा है इसके लिये कई स्तरों पर व्यवस्था की गयी है। पीआईबी के अपर महानिदेशक आर.पी.सरोज ने एहतियाती उपायों को अपनाने पर जोर देते हुये कहा कि प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों की बैठक में कई महत्वूपर्ण बातों पर जोर दिया है। उन्होंने कहा है कि आरटीपीसीआर टेस्ट बढाने के साथ ही ज़रुरी होने पर मुख्यमंत्री अपने राज्यों में माइक्रो कंटेनमेंट जोन भी बनाये। उपनिदेशक डा. श्रीकांत श्रीवास्तव ने वेबिनार का संचालन किया। एमसीओ सुंदरम चौरसिया और उनकी टीम ने वेबिनार के आयोजन में समन्वय और तकनीकि सहयोग दिया। वेबिनार में बड़ी संख्या में पत्रकारों ने हिस्सा लिया।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार