अपना दल और राष्ट्रीय क्रांति पार्टी के कई नेताओं ने थामा "आप" का दामन

लखनऊ। राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने गुरुवार को अपना दल और राष्ट्रीय क्रांति पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं को आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई। इस मौके पर पूर्व केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के निजी सहायक रहे विक्रम सिंह पटेल, राष्ट्रीय क्रांति पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रहे बृजलाल लोधी ने यूपी में दिल्ली मॉडल लाने की प्रतिबद्धता जताई।

विक्रम सिंह पटेल ने कहा, वर्तमान राज्य सरकार और केंद्र सरकार का किसी भी तरीके से कोई भी ध्यान जनता के मुद्दों पर नहीं है। केवल जुमलेबाजी और धर्म के नाम पर लड़ाने का काम सरकार कर रही है। हम युवाओं की जिम्मेवारी है कि इस राजनीति को बदलें। बृजलाल लोधी ने यूपी के लिए दिल्ली मॉडल जरूरी बताया। बुंदेलखंड के प्रदेश के महासचिव मिहिर सेना बृजलाल लोधी एक अपना संगठन अखिल भारतीय लोधी लोधा राजपूत महासभा उत्तर प्रदेश भी चलाते हैं जिसके प्रांतीय प्रमुख हैं। उनके साथ बुंदेलखंड के अपना दल के प्रदेश महामंत्री वीके सिंह, जयपाल सिंह, बीएस तोमर, मुकेश कुमार झा, आईपी सिंह, प्रकाश पाल, सुधीर पटेल आदि को भी संजय सिंह पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई। 

दिल्ली की चुनी हुई सरकार की शक्तियों को छीनने वाला काला कानून लागू करने पर उतारू केंद्र सरकार के साथ यूपी की योगी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए राज्यसभा सांसद वह आप के प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने दो टूक कहा, लाट साहब के डंडे से दिल्ली नहीं चलाने देंगे। वह पार्टी कार्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित कर रहे थे। संजय सिंह कहा, सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने स्पष्ट तौर पर 2018 में फैसला दिया कि दिल्ली में सरकार का मतलब लोकतांत्रिक ढंग से जनता के वोट से चुनी हुई सरकार, जिसका अगुआ दिल्ली का मुख्यमंत्री होगा। एलजी नहीं होगा। उन्होंने बताया कि केंद्र की ओर से लाए जा रहे काले कानून के संबंध में विपक्ष के वरिष्ठ नेताओं से बात हुई है। जब यह बिल सदन में चर्चा के लिए पेश होगा तो इसका जोरदार विरोध किया जाएगा। हम किसी भी सूरत में केंद्र की भाजपा सरकार को दिल्ली को एलजी के रूप में लाट साहब के डंडे से नहीं चलाने देंगे। 

उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के पहले की स्थिति पर भी चर्चा की। याद दिलाया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को मोहल्ला क्लीनिक पास कराने के लिए 9 दिन अपने कैबिनेट के साथ धरने पर बैठना पड़ा था। बोले, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद काम करने में सुविधा मिली तो शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा आदि सहित तमाम मुद्दों पर दिल्ली सरकार ने ऐतिहासिक काम किया। न्यूयॉर्क टाइम्स लेकर संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव तक ने दिल्ली सरकार की प्रशंसा की। आज केजरीवाल सरकार का दिल्ली मॉडल पूरी दुनिया में सराहा जा रहा है। केंद्र सरकार का काम ऐसी सरकार को प्रोत्साहित करने का होना चाहिए, लेकिन दिल्ली मॉडल की प्रशंसा से घबराकर मोदी सरकार चोर दरवाजे से कानून लाकर ऐसी सरकार का गला दबाने का काम कर रही है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार