जब जब लाल टोपी पहने नौजवानों ने साइकिल चलाई है तब तब बदलाव हुआ है- अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज के दिन को ऐतिहासिक बताते हुए कहा है कि जब जब लाल टोपी पहने नौजवानों ने साइकिल चलाई है तब तब बदलाव हुआ है। सन् 2011 में जब लगातार साइकिल चली तो 2012 में उस समय की सरकार का सफाया हो गया। अभी साइकिल पर पैडल नहीं मारा गया और मौसम में बदलाव हो गया, तो जब मौसम बदला है तो रामपुर से चली साइकिल यात्रा से देश-प्रदेश का राजनीतिक मौसम भी जरूर बदलेगा।
 
भाजपा की सरकार किसी सूरत में नहीं बचेगी, उसका जाना तय है। अखिलेश यादव आज रामपुर में मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय से प्रारम्भ समाजवादी साइकिल यात्रा से पहले उपस्थित विशाल जनसमूह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होेंने कहा साइकिल के पहिया से विकास जुड़ा है। रफ्तार साइकिल की ताकत है। इसी से तरक्की-खुशहाली आती है। अब इंटरनेट के जमाने में भी तीन पहिए (w.w.w) लगते हैं। साइकिल यात्रा के साथ जनअभियान में साइकिल की ताकत संतुलन से बंधी है। अखिलेश यादव ने आज स्वयं जौहर विश्वविद्यालय से प्रारम्भ साइकिल यात्रा का नेतृत्व किया। उनके साथ इस साइकिल यात्रा में दर्जनों विधायक, युवा संगठनों के प्रदेश अध्यक्ष तथा शहर के युवक भी बड़ी संख्या में साइकिल चला रहे थे।
 
साइकिल यात्रा के दौरान सड़क के दोनों तरफ लोगों ने फूल बरसा कर साइकिल चला रहे अपने नेता अखिलेश यादव का अभिवादन किया। नौजवानों में उत्साह का माहौल था। राहगीर और स्थानीय लोग अपने नेता की एक झलक पाने के लिए लालायित दिखे। यादव ने कहा कि अब चुनाव में ज्यादा दिन नहीं बचे हैं। पंचायत चुनाव और पश्चिम बंगाल के चुनाव के बाद ही उत्तर प्रदेश में चुनाव की हलचल शुरू हो जाएगी। आज से हमारा भी प्रचार शुरू हो रहा है। उन्होंने लेकिन चेतावनी दी कि हमें भाजपा की साजिशों से सावधान रहना होगा। पश्चिम बंगाल में जो हो रहा है वैसे ही हम आप पर भी हमले होंगे। अभी कल हमारे साथ साजिश के तहत मुरादाबाद में पहले लिफ्ट की लाइट बंद कर दी गई ताकि हम निकल न सकें।
 
उन्होंने कहा चुनाव के दिन थोड़े ही बचे हैं, अब जो होगा अच्छा ही होगा। अखिलेश यादव ने कहा सांसद और पूर्व कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आजम खां और उनके परिवार सहित उनके तमाम साथियों पर गम्भीर धाराओं में मुकदमें लगा दिए गए हैं। उन्हें झूठे मुकदमों में फसाया गया है। आजम साहब अकेले नेता है जिन पर बहुत ज्यादा मुकदमें लगा दिए गए हैं। उन्होंने जौहर विश्वविद्यालय जैसा शानदार शैक्षिक संस्थान बनाया ताकि आने वाली पीढ़ी का भविष्य बेहतर हो। समाजवादी सरकार ने भी अपने कार्यकाल में ऐसी संस्थाएं, यूनीवर्सिटीज बनवाईं ताकि नौजवानों का भविष्य अच्छा हो। रामपुर में समाजवादी सरकार के कार्यकाल के जो काम अधूरे रह गए, उन्हें अगली सरकार में पूरे किये जाएंगे।
 
 
यादव ने कहा कि हमारे विपक्षी की भाषा है कि ‘ठोक दो‘, जिनकी यह भाषा हो उनसे क्या उम्मीद करें। लेकिन हमें न्यायालय पर भरोसा है। हमें विश्वास है कि न्यायालय में मोहम्मद आजम खां की बात सुनी जाएगी और उन्हें न्याय मिलेगा। उन्होंने कहा भाजपा का विकास से कोई रिश्ता नहीं है। समाजवादी सरकार के कामों का फीता काटने के अलावा उन्हें कोई दूसरा काम नहीं आता है। आज किसान, नौजवान सभी त्रस्त हैं। मंहगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार चरम पर है। हम साइकिल चला रहे हैं तो प्रशासन उस पर भी मुकदमें दर्ज करने की सोच रहा है। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा लोकतंत्र को कमजोर कर रही है, हम उसे ऐसा नहीं करने देंगे। गंगा-जमुनी तहजीब को मिटाने के मंसूबे को कामयाब नहीं होने देंगे। जनता को डराया जा रहा है। किसानों के आंदोलन को हमारा समर्थन है। 
 
रामपुर से आज प्रारम्भ साइकिल यात्रा का समापन 21 मार्च 2021 को लखनऊ में होगा। 13 मार्च 2021 को प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल साइकिल यात्रा को अम्बेडकर पार्क रामपुर से हरी झण्डी दिखाकर बरेली के मीरगंज सीमा तक रवाना करेंगे। 14 मार्च 2021 को नेता विरोधी दल विधानसभा रामगोविन्द चौधरी साइकिल यात्रा को बरेली के मीरगंज से हरी झण्डी दिखाकर रवाना करेंगे। 15 मार्च 2021 को बरेली से चलकर साइकिल यात्रा कटरा पहुंचेगी। 16 मार्च 2021 को कटरा से शाहजहांपुर और 17 मार्च को शाहजहांपुर से राज्यसभा सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद तथा एमएलसी एवं प्रदेश अध्यक्ष समाजवादी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ डॉ0 राजपाल कश्यप हरी झंडी दिखाकर साइकिल यात्रा को अचौलियां लखीमपुर के लिए रवाना करेंगे। 18 मार्च 2021 को लखीमपुर से सीतापुर साइकिल यात्रा पहुंचेगी।
 
पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 19 मार्च 2021 को नेता विरोधी दल विधान परिषद अहमद हसन सीतापुर में हरी झण्डी दिखाकर साइकिल यात्रियों को रवाना करेंगे जो 20 मार्च को बख्शी का तालाब, लखनऊ पहुंचेंगे। 21 मार्च 2021 को साइकिल यात्री बख्शी का तालाब से चलकर समाजवादी पार्टी मुख्यालय, 19 विक्रमादित्य मार्ग, लखनऊ पहुंचेंगे जहां राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव उन्हें सम्बोधित करेंगे।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां