मुख्यमंत्री ने महोबा में अर्जुन सहायक परियोजना के हेड रेगुलेटर का किया स्थलीय निरीक्षण

महोबा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद महोबा में 2,600 करोड़ रुपये की लागत से बन रही अर्जुन सहायक परियोजना के अन्तर्गत लहचुरा बांध पर हेड रेगुलेटर का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों से परियोजना की पूरी जानकारी प्राप्त की तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने परियोजना के मॉडल एवं मैप का अवलोकन भी किया।
 
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि नदी भारत की संस्कृति व परम्परा का आधार रही है। नदी जल की पवित्र स्रोतदाता रही है। वर्तमान सरकार ने सभी नदियों को माँ का सम्बोधन देकर माँ गंगा के रूप में इसकी पूजा की है। समय और परिस्थिति के अनुरूप एक-एक बूंद का उचित नियोजन अतिआवश्यक है। पिछली सरकारों ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दूरगामी सोच के परिणामस्वरूप प्रदेश की दशकों से लम्बित सिंचाई परियोजनाएं आज आकार ले रही हैं। अर्जुन सहायक परियोजना धसान नदी में है। इस परियोजना से जनपद महोबा, हमीरपुर और बांदा लाभान्वित होंगे।
 
इस परियोजना से 168 गांव के 1.5 लाख किसान लाभान्वित होंगे। 04 लाख लोगों को शुद्ध पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित की जा सकेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अर्जुन सहायक परियोजना से 44,381 हेक्टेयर का नवीन सिंचन क्षमता का सृजन होना है, जिसमें महोबा में 29,680 हेक्टेयर, हमीरपुर में 12,201 हेक्टेयर और बांदा में 2,500 हेक्टेयर भूमि को सिंचाई का लाभ मिलेगा। यह सिंचाई परियोजना किसानों के जीवन में व्यापक परिवर्तन का कारक बनेगी। यह परियोजना 01 से 02 माह में पूर्ण कर ली जाएगी। उन्होंने कहा कि इस परियोजना का लोकार्पण प्रधानमंत्री के कर कमलों से कराया जाएगा।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री की अनुकम्पा से बुन्देलखण्ड में विकास की अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं। जल जीवन मिशन के अन्तर्गत ‘हर घर नल’ योजना के माध्यम से हर घर को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने का कार्य किया जा रहा है। मनुष्य की आधी बीमारी का कारण शुद्ध पेयजल की उपलब्धता न होना है। इस बीमारी का समाधान शुद्ध पेयजल है। उन्होंने कहा कि जल शक्ति मंत्रालय शुद्ध पेयजल के लिए, ट्यूबवेल, हैण्डपम्प की मरम्मत के लिए और सिंचाई की बड़ी-बड़ी परियोजनाओं के लिए कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि हम देश व दुनिया को जल शक्ति की ताकत का एहसास कराएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि बुन्देलखण्ड को जिस विकास की आस थी, वर्तमान सरकार उस आस को पूरा करने का कार्य कर रही है।
 
उन्होंने कहा कि महोबा की भूमि वीरों की तो है ही, आस्था की भी है। महोबा जनपद हमें ऐतिहासिक और आध्यात्मिक परम्पराओं से जोड़ता है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के सहयोग से प्रदेश सरकार विकास की सभी योजनाओं को तेजी से आगे बढ़ाने का कार्य कर रही है। पूर्ववर्ती सरकारों ने यहां के लोगों को विकास से वंचित रखने का कार्य किया। उन्होंने कहा कि सिंचाई का पानी जब खेतों में पहुंचेगा तो बुन्देलखण्ड क्षेत्र की धरती सोना उगलेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बुन्देलखण्ड के लोगों को उनका हक दिलाने का कार्य किया जा रहा है।
 
बुन्देलखण्ड क्षेत्र में विकास की अपार सम्भावनाएं हैं। इस क्षेत्र में बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे तथा डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर की स्थापना की जा रही है। वर्तमान सरकार के विजन में गांव, गरीब, किसान, नौजवान, महिलाएं शामिल हैं। उन्होंने जिला-प्रशासन के अधिकारियों से कहा कि यहां पर जल जीवन मिशन के अन्तर्गत काफी कार्य किया जाना है। इसलिए गांवों के लोगों को प्लम्बरिंग की ट्रेनिंग देकर उन्हें स्थानीय स्तर पर रोजगार देने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सी0एस0आर0 के पैसे का उपयोग यहां के स्कूलों के कायाकल्प के लिए किया जाए, जिससे बच्चों को अच्छी व गुणवत्तापरक शिक्षा प्राप्त हो सके।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार