भाजपा राज में इलाज भले न मिले, अंत्येष्टि फ्री है- अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भारत में कोरोना महामारी के दौर में सरकारी अव्यवस्था को लेकर भाजपा सरकार की दुनिया भर में किरकिरी हो रही है। कई देशो ने भारत यात्रा पर रोक लगा दी है तो कुछ ने अपने देशवासियों को भारत छोड़ने की एडवायजरी जारी कर दी हैं।

वैश्विक स्तर पर इससे भारत की छवि खराब हो रही है। लेकिन इस सबके बावजूद भाजपा सरकार अपनी ऐंठ एवं अहंकार में डूबी है। विपक्ष का सहयोग लेने के बजाय उनको बदनाम करने पर तुली है। विदेशों में सरकारों ने जन सहयोग से संकट पर काबू पाया है पर यहां तो अकेले ही सब श्रेय लेने के चक्कर में मुख्यमंत्री तीसमार खां बने हुए हैं और जनता की सासों से खिलवाड़ हो रहा है। जिस तरह अस्पतालों में बेड को लेकर मारामारी बची है, प्राणवायु आक्सीजन के लिए लोग दर-दर भटक रहे है, वो बेहद दुःखद है। इलाज के लिए सलाह देने वाले डाक्टरों और अस्तपतालों के झूठे नंबर छपवाए जा रहे हैं। आक्सीजन सप्लायर फोन नम्बर बंद कर लेते हैं।

सीएमओ आफिस में लालफीताशाही का जोर है। कहीं किसी की सुनवाई नहीं। अस्पतालों में दवाई नहीं। फिर भी सरेआम झूठा बोला जा रहा है। कहीं कोई कमी नहीं है। मृृतक आंकड़ो में भी खेल हो रहा है। बस भाजपा राज में इलाज भले न मिले, अंत्येष्टि फ्री है। भाजपाई भी सरकारी झूठ में अपनों को खो रहे हैं। भाजपा सरकार कितना अमानवीय हो सकती है इसका एक उदाहरण यह है कि पंचायती चुनावों में डयूटी कर रहे 706 शिक्षकों की सांसे थम गई। लगभग 10 हजार से ज्यादा शिक्षक कोरोना संक्रमण से ग्रसित हैं तो भी मतगणना में उनकी डयूटी लगाई जा रही है। अस्पताल कर्मियों को भी कोरोना के इलाज की भी सुविधा नहीं मिल पा रही है। बड़ी संख्या में लोग घरों में, अस्पतालों के गेट के बाहर स्टेªचर या सड़क पर जानें दे रहे हैं।

उच्च न्यायालय के सख्त रूख के बावजूद प्रदेश में ध्वस्त स्वास्थ्य व्यवस्था के हालात नहीं सुधर रहे हैं। मृृत स्वास्थ्यकर्मियों, शिक्षकों तथ पत्रकारों को 50-50 लाख रूपए की तत्काल सहायता दी जानी चाहिए पर मुख्यमंत्री को इस पर सोचने की फुर्सत कहां है? खोखली बयानबाजी के अलावा उनके पास कोई काम बताने को है नहीं जो भी अस्पताल बने समाजवादी सरकार में बने। एम्स के लिए जमीन सपा सरकार ने दी भाजपा चालू नहीं कर पाई। अवध शिल्प ग्राम, कैंसर अस्पतालों का लाभ कोरोनाकाल में भाजपा श्रेय ले रही है, उनका निर्माण सपा सरकार में हुआ। प्रदेश में भाजपा सरकार के कारनामें तो दुनिया के कई प्रतिष्ठित अखबारों में छप रहे हैं। उसकी थू-थू हो रही है। भाजपा के पास न तो नीति है, न निर्णय क्षमता। सब कुछ उसके नियंत्रण से बाहर है,यह निर्दयी सरकार है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन