चुनाव ड्यूटी में संक्रमित होकर दम तोड़ने वालों के आश्रितों को मिले सरकारी नौकरी और एक करोड़ मुआवजा - सभाजीत सिंह



लखनऊ : चुनाव ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण की जद में आकर दम तोड़ने वाले सैकड़ों कर्मियों के पारिवारीजन के लिए आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने एक करोड़ रुपये के मुवावजे की मांग उठाई है। बुधवार को जारी बयान में प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने उक्त धनराशि सहित पीड़ित परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने की मांग उठाई। उन्होंने कहा कि ये सैकड़ों मौतें योगी सरकार की चुनावी जिद का परिणाम हैं।

कोरोना संक्रमण के बीच पंचायत चुनाव कराने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर गांव-गांव तक महामारी फैलाने का आरोप लगाते हुए सभाजीत सिंह ने कहा कि सीएम की जिद के कारण सैकड़ों परिवार का जीवन खतरे में है। हाईकोर्ट भी योगी सरकार को इस जिद के लिए लताड़ चुका है की चुनावी ड्यूटी के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का सही तरीके से निर्वाह नहीं किया गया, सामने आया है कि राज्य निर्वाचन आयोग की लापरवाही के कारण कई शिक्षामित्र, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता आदि की मौत हो चुकी है और उनके परिवार के लोग सांसों के लिए संघर्ष कर रहे हैं। योगी सरकार की चुनावी जिद सरकारी कर्मचारियों की जान ले रही है। आम आदमी पार्टी शिक्षामित्रों और कर्मचारियों के साथ खड़ी है।जिन कर्मचारियों की ड्यूटी के दौरान मृत्यु हुई है, उनके परिजनों को सरकारी नौकरी और एक करोड़ का मुआवजा दिया जाए। परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी दी जाए। आम आदमी पार्टी की मांग है कि कर्मचारियों के संक्रमित परिजनों के इलाज का पूरा खर्च सरकार उठाए।


Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन