क्या मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बात उनके अधीनस्थ सुन नहीं रहे हैं या उनके आदेश ही हवा हवाई हैं ??




मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ द्वारा दिनांक 12 अप्रैल 2021 को सुपर स्पेशियलिटी कैंसर संस्थान, लखनऊ में 100 बेड का कोविड वार्ड बनाये जाने के निर्देश के अनुपालन में चिकित्सा शिक्षा अनुभाग-2 द्वारा  जी.एस.प्रियदर्शी, सचिव, चिकित्सा शिक्षा विभाग उ०प्र० शासन ने इसी दिन शासनादेश जारी करके कैंसर संस्थान के निदेशक शालीन कुमार को निर्देशित किया था।  खेद के साथ कहना पड़ रहा है कि इस कोविड अस्पताल को आज तक चालू नहीं किया गया है और मरीज सड़क पर दम तोड़ रहे हैं। लखनऊ जैसे शहर में इतना बड़ा मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर होने के बावजूद कोविड मरीजों की मौत बिना इलाज़ के हो जाना सिस्टम पर बड़ा सवाल खड़े करता है। 

मेरा मुख्यमंत्री से अनुरोध है कि कैंसर संस्थान में मरीजों के इलाज हेतु बनाए जाने वाले 100 बेड के कोविड वार्ड को चालू न कराने के लिए निदेशक शालीन कुमार को दोषी मानते हुए उनके विरुद्ध महामारी अधिनियम के अन्तर्गत सुसंगत धाराओं में मुकद्दमा पंजीकृत करके उन्हें जेल भेजा जाय। अगर ऐसे जिम्मेदार लोगों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही नहीं की गयी तो गंभीर मरीज ऐसी ही इलाज के अभाव में सड़क पर दम तोड़ते रहेंगे। 

                                                        

  (फतेह बहादुर सिंह) 

     अध्यक्ष

राष्ट्रीय जनाधिकार परिषद्  

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन