देश को दुखदाई हालत में छोड़कर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री लापता- संजय सिंह

लखनऊ। पूरा देश कोरोना से कराह रहा है। यूपी में स्थिति सबसे खराब हो गई है। लोगों इलाज के बिना दम तोड़ रहे है, मगर योगी सरकार व्यवस्था सुधारने की जगह शमशान में सच छिपाने में जुटी हुई है। उत्तर प्रदेश की जनता अस्पतालों में अपना दम तोड़ रही है। उनके परिजन इलाज के लिए, ऑक्सीजन के लिए, बेड के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं।
 
स्वास्थ्य सेवाओं के मुद्दे पर योगी आदित्यनाथ पूरी तरह से फेल हो चुके हैं। प्रदेश की स्थिति पर केंद्र सरकार हस्तक्षेप करना चाहिए। यूपी की जिस जनता ने लाइन लगाकर मोदी की सरकार बनाई आज वो श्मशानों में लाइन लगाने को मजबूर है। देश को दुखदाई हालात में आइसोलेशन में छोड़कर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री लापता हैं। आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने शनिवार को पार्टी कार्यालय पर प्रेसवार्ता में ये बातें कहीं। आप नेता ने महामारी में जारी चुनावी रैलियों पर मोदी-शाह को आड़े हाथों लिया। संजय सिंह ने कहा कि ऐसे हालात में जनता के जान की चिंता करने की जगह प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को चुनाव की फ़िक्र सता रही है। संजय सिंह ने यूपी की तस्वीर बयां करते हुए जिलों में कोरोना जांच हो पाने की समस्या उठाई।
 
अम्बेडकरनगर के एक मामले का जिक्र किया, जिसमें जांच हो पाने के कारण फेफड़ा फेल होने के बाद भी मरीज को मेडिकल कॉलेज में वेंटिलेटर नहीं मिल पाया। कहा कि तमाम जिलों से अस्पतालों में बेड, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर न मिलने की खबरें आ रही हैं। श्मशान में लोगों को अपनों के शवदाह के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। जिस बनारस में मोदी ने कहा था 'मुझे गंगा मैया ने बुलाया है', वहां हरिश्चंद्र घाट पर शुक्रवार को 125 लाशें जलाई गईं। मोदी आज उसी बनारस को अनाथ छोड़कर चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं। गुजरात का सूरत हो या बनारस चाहे लखनऊ, पूरा देश कोरोना से कराह रहा है। संजय सिंह ने दिनवार संक्रमण के आंकड़े बताते हुए पीएम, गृहमंत्री की रैलियों की गिनती कराई। कहा, चुनाव तो आते जाते रहेंगे, मगर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को इस समय चुनावों में वोट करने वाली जनता के जान की फ़िक्र करनी चाहिए।
 
केंद्र को यूपी के हालात पर नजर रखने के साथ यहां के लिए विशेष मदद की घोषणा करनी चाहिए। संजय सिंह ने कोरोना महामारी की रोकथाम को लेकर केंद्र की व्यवस्था पर सवाल उठाए। कहा कि कोरोना से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर दिल्ली सरकार केंद्र को पत्र लिख चुकी है। सरकार को पीएम केयर फंड का पूरा हिसाब देश की जनता को देना चाहिए। इस निधि से राजस्थान में को वेंटिलेटर खरीदे गए उसमें 90 से 95% खराब हैं। इसलिए इसमें बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार की आशंका है। संजय सिंह ने 84 देशों में भेजी गई भारतीय वैक्सीन पर भी सवाल उठाया। कहा कि आज देश में श्मशान में लाशें बिछी हैं। यहां वैक्सीन की कमी है और लोग टीकाकरण कराने के लिए परेशान हैं। मोदी देशवासियों का टीकाकरण कराने से पहले पाकिस्तान, कनाडा जैसे 84 देशों में टीकाकरण कराने में जुटे हैं।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन