सरकार को चुनाव की चिंता, चिता की नहीं- संजय सिंह

लखनऊ। एक दिन पहले राजधानी से दिल दहला देने वाली तस्वीरें सामने आईं। बैकुंठ धाम में लाशें बिछी हुई हैं। सैकड़ों की संख्या में लाशें जल रही हैं। ये तस्वीरें विचलित कर देने वाली हैं। कोरोना से लोगों की जान बचाने की जगह प्रदेश सरकार श्मशान को लाशों से ढांकने की तैयारी में जुटी हुई है। सरकार को चुनाव की चिंता है, चिता की नहीं। कोरोना महामारी की बद से बदतर होती जा रही स्थिति पर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद एवं उत्तर प्रदेश के प्रभारी संजय सिंह ने गुरुवार को ये कहते हुए योगी सरकार पर करारा हमला बोला।

उन्होंने कहा कि हालात इतने बिगड़ चुके हैं इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि सरकार के कानून मंत्री ने खुद पत्र लिखकर व्यवस्था पर सवाल उठाने पड़े। उनकी पैरवी के बाद भी उनके विधानसभा क्षेत्र के पद्मश्री से सम्मानित डॉ योगेश प्रवीन को अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिली और उनकी मौत हो गई। इसी तरह पूर्व जिला जज रमेश चंद्रा पत्नी के इलाज के लिए रोते रहे, मगर उन्हें इलाज न मिल सका और मौत हो गई। किसी को अपने मरीज को अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिल पा रही है तो किसी को अपने स्वजन का शो श्मशान घाट तक ले जाने के लिए वाहन नहीं मिल पा रहा है। लखनऊ के जिला जिलाधिकारी का वीडियो वायरल हुआ, जिसमें उन्होंने साफ तौर पर कहा, लोग रोड पर मर रहे हैं। यह हालत है राजधानी लखनऊ की तो अन्य जिलों की स्थिति समझी जा सकती है।

प्रदेश के अंदर आज पूरी कवायद और कोशिश इस बात की हो रही है कि कैसे इस बीमारी की भयावहता को छुपाया जाए, कैसे कोरोना के संक्रमण की रिपोर्ट को दबाया जाए, कैसे हॉस्पिटल में बेड नहीं मिलने की  खबर को बाहर न निकलने दिया जाए। डीएम ने कह दिया कि रोड पर लोगों की जान जा रही है तो उनके खिलाफ जांच कराने की बातें होने लगीं। सांसद, मोहनलालगंज कौशल किशोर ने चिट्ठी लिखी। उन्होंने कहा कि हालत चिंताजनक है, ध्यान दीजिए। योगी की पार्टी के नेता मुख्यमंत्री से अपील कर रहे हैं, लेकिन उन्हें शायद इस स्थिति की चिंता नहीं। तभी तो एक मोबाइल नंबर पर 7343 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट दे दी जा रही है।

सांसद संजय सिंह ने कहा कि श्मशान में लाशों के जलने की तस्वीरें आईं तो सुबह से शमशान को ढकने के लिए पूरी टीम लगा दी गई। मैं उत्तर प्रदेश की आदित्यनाथ की सरकार से कहना चाहता हूं अगर इतनी मेहनत आपने अस्पताल बनाने में की होती, ऑक्सीजन और अन्य इंतजाम में की होती तो शायद आज आपको सच को छिपाने की जरूरत नहीं पड़ती। संजय सिंह ने कहा, आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कोरोना संक्रमित हो गए हैं। मैंने आपसे अपील की थी कि आप अपनी पार्टी के कोरोना संक्रमित नेता सुनील बंसल के संपर्क में आए हैं इसलिए खुद को आइसोलेट करिए। मगर, योगी को चुनाव की चिंता थी। वह दूसरे प्रदेशों में घूम कर चुनाव प्रचार करते रहे और लोगों के लिए खतरा पैदा करते रहे।

उन्होंने ट्विटर पर जानकारी दी है कि वह कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं और उनके संपर्क में जितने भी लोग हैं कोरोना की जांच करा लें। आपने हम लोगों की बातें अनसुनी कर दीं। हमारे निवेदन को नहीं सुना। हमे आपके स्वास्थ्य की चिंता है। आपके ऑफिस के अधिकारी-कर्मचारियों के साथ आपकी रैली में आने वाली जनता की भी चिंता है। निवेदन है कि मुख्यमंत्री इस प्रकार की आपराधिक लापरवाही से बचिए। दूसरों के जीवन को बचाते हुए खुद भी सुरक्षित रहिए। मैं प्रार्थना करता हूं प्रभु से कि आप जल्दी स्वस्थ हों लेकिन, कोरोना की रोकथाम के लिए कदम उठाइये। इसे छिपाने की कोशिश ठीक नहीं। संजय सिंह ने कहा कि कोरोना की भयावहता को छिपाने की आपराधिक लापरवाही पर सरकार सोचती है कि बार-बार पर्दा डालने से काम चल जाएगा।

मैं कहना चाहता हूं, मुख्यमंत्री से और उत्तर प्रदेश की सरकार से भाजपा के नेताओं से ऐसा करने से आप उत्तर प्रदेश की जनता के जीवन को नहीं बचा पाएंगे बल्कि आप उनके जीवन के साथ जानबूझकर खिलवाड़ करने के साथ देश की जनता के जीवन को खतरे में डालेंगे। संजय सिंह ने चुनावी रैलियों को लेकर प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को आड़े हाथों लिया। कहा कि उन्हें चुनाव की चिंता सता रही है। संजय सिंह ने कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के नाम पर हुई 50 हजार वेंटिलेटर खरीद पर भी सवाल उठाया। राजस्थान में 90 से 95 परसेंट खराब वेंटिलेटर दिए जाने की जानकारी देते हुए संजय सिंह ने बड़े घोटाले की आशंका जताई। कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार पहले भी कोरोना के नाम पर घोटाले कर चुकी है। अबकी बार मोदी सरकार यह काम कर रही है। संजय सिंह ने योगी को अस्पतालों की व्यवस्था सुधारने का सुझाव दिया। कहा, सच छिपाएंगे तो हम महामारी के खिलाफ लड़ाई हर जाएंगे।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन