शूटर दादी चन्द्रो तोमर का निधन



 बागपत। कोरोना वायरस से जनित महामारी हर किसी को हमसे छीन कर ले जा रही है। वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम करने वाली और शूटर दादी के नाम से मशहूर चन्द्रो तोमर का भी निधन हो गया। पिछले सप्ताह वह संक्रमण से पीड़ित हुई थी और उसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। अब से थोड़ी देर पहले जानकारी मिली है कि शूटर दादी की मौत हो गई है। चंद्रो तोमर भारत की मशहूर निशानेबाज थीं। उनको ‘शूटर दादी’ के नाम से जाना जाता है। चंद्रो तोमर इस समय 89 साल की थीं और वह उत्तर प्रदेश के बागपत की रहने वाली थीं।

‘शूटर दादी’ के नाम से मशहूर निशानेबाज चंद्रो तोमर का शुक्रवार को कोरोना वायरस ने निधन हो गया है। सांस लेने में परेशानी के बाद पिछले सप्ताह उनको एक अस्पताल में एडमिट करवाया गया था। जहां पर उनको कोरोना का इलाज चल रहा था। शुक्रवार की दोपहर को चंद्रो तोमर ने कोरोना वायरस के इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है। चंद्रो तोमर और उनकी देवरानी प्रकाशी तोमर ने सबसे ज्यादा उम्र में अंतरराष्ट्रीय शूटर बनने का रिकॉर्ड कायम किया था। उनके जीवन पर पिछले साल ही तापसी पन्नू और भूमिका पेडणेकर अभिनीत फिल्म "बुल आई" का प्रसारण किया गया था।

शूटर दादी चंद्रो तोमर में 27 अप्रैल को कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी। जिसके बाद उनको अस्पताल में एडमिट करवाया गया था। उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हो रहा था। इस महामारी के दौरान चंद्रो तोमर लगातार ट्विटर के जरिए लोगों को मोटिवेट कर रही थीं। वह रोजाना लोगों को बल देने के लिए ट्वीट करके हिम्मत के साथ खड़े रहने की नसीहत दे रही थीं। शूटर दादी के निधन की सूचना मिलते ही उनके चाहने वालों में शोक की लहर दौड़ गई है। लोग ट्विटर, फेसबुक और व्हाट्सएप पर उनके लिए सद्गति की कामना कर रहे हैं। आपको बता दें कि बागपत जिले के जोहड़ी गांव से ताल्लुक रखने वाली चंद्रो तोमर खुद में महिला सशक्तिकरण की एक मिसाल थीं। उन्होंने न केवल अपनी पीढ़ी बल्कि युवा पीढ़ी को भी बेहद प्रोत्साहित किया। उनकी बेटी सीमा तोमर भी अंतरराष्ट्रीय शूटर हैं।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न