मुफ्त राशन वितरण से कोरोना को मिल रही है मात


लखनऊ। लगातार बढ रहे लाकडाउन के कारण लोगों के सामने दो जून की रोटी जुटाने की चुनौती है। संकट की इस घड़ी में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अतर्गत वितरित किये जा रहे मुफ्त राशन से लोग राहत की सांस ले रहे है। राजधानी लखनऊ में भी इस योजना के तहत लोगों को निःशुल्क राशन वितरित किया जा रहा है।

लाभार्थियों ने बताया कि निःशुल्क राशन मिलने से कोरोना संकट के समय में उन्हें काफी मदद मिली है। इस मदद के लिए लाभार्थियों ने केन्द्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद दिया है। लाभार्थी सुनीता ने बताया कि उनके पति जिस फर्म मे काम करते हैं, वह अभी बंद है। एसे में इस योजना से उनके परिवार का भरण पोषण आसानी से हो रहा है। एक अन्य लाभार्थी पंकज कहते है कि करोना से लडाई में घर पर ही रहना है एसे में फ्री राशन का इंतजाम हो जाने से हम सब इस लड़ाई को घर में रहकर जीत सकते है। आयुक्त खाद्य एवं रसद मनीष चौहान ने बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत अंत्योदय तथा पात्र गृहस्थी लाभार्थियों को राशन का वितरण किया जा रहा है।

इसमें प्रति कार्ड 35 किलोग्राम खाद्यान्न जिसमें 20 किलोग्राम गेहूं व 15 किलोग्राम चावल का वितरण किया जा रहा है। इसमें गेहूं का वितरण मूल्य 2 रुपए प्रति किलो तथा चावल का 3 रुपए प्रति किलोग्राम निर्धारित किया गया है। जिलाधिकारियों एवं जिला पूर्ति अधिकारियों को निर्देश दिए गए है कि वे उचित दर विक्रेतावार अधिकारियों की तैनाती करें. इसके अलावा उन्होंने उचित दर की दुकानों पर टोकन सिस्टम लागू करने को कहा है. साथ ही यह भी सुनिश्चित करने को कहा है कि एक दुकान पर एक समय में पांच उपभोक्ता से अधिक न रहे। इसके अलावा हर दुकान पर ई-पॉस के समय सैनिटाइजर, साबुन एवं पानी की व्यवस्था भी की जाए।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर