योगीराज में मंत्रियों को कोरोना से मरने वाले शिक्षकों की संख्या भले ही पता ना हो लेकिन फर्जीवाड़ा करके नौकरी लेना अच्छी तरह पता है- संजय सिंह

लखनऊ। सिद्धार्थ यूनिवर्सिटी में ईडब्लूएस कोटे से असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में मंत्री डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी के भाई डॉ अरुण द्विवेदी की तैनाती पर आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी, राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि पंचायत चुनाव में कोरोना संक्रमण के कारण मारे गए 1621 शिक्षकों की संख्या को महज तीन बताने वाले बेसिक शिक्षा मंत्री का  कारनामा सामने आया है।

शिक्षा मंत्री को मरने वाले शिक्षकों की संख्या नहीं मालूम लेकिन वह जानते हैं कि फर्जीवाड़ा करके अपने सगे भाई को गरीबी रेखा का सर्टिफिकेट दिला कर कैसे नौकरी दी जाती है, इसकी पूरी जानकारी है। उन्होंने नियम कानून ताख पर रखकर कुलपति का इस्तेमाल किया। पहले कुलपति का कार्यकाल बढ़ाया गया। कुलपति ने कार्यकाल बढ़ने के बाद पहला काम मंत्री के भाई को नौकरी देने का किया। उत्तर प्रदेश के शिक्षा मंत्री का भाई जो पहले से नौकरी में है उसे आर्थिक रूप से कमजोर माना जा रहा है।

प्रदेश में नौकरी के लिए शिक्षामित्र आवाज उठाते हैं तो उन्हें लाठी डंडों से पीटा जाता है। योगी सरकार में शिक्षक, ग्राम पंचायत अधिकारी, कई विभागों में नौकरियों के आवेदक युवाओं को नौकरी मांगने पर लाठियां मिल रही है, मां बहन की भद्दी भद्दी गालियां दी जा रही है। आरक्षण  का हक मारकर मंत्री के भाई को दी गई नियुक्ति प्रदेश के युवाओं का यह घोर अपमान है। इस अपमान के खिलाफ प्रदेश का हर युवा आपसे सवाल कर रहा है। बेसिक शिक्षा मंत्री को सामने आकर जवाब देना चाहिए। उन्हें जनता से माफी मांगते हुए इस्तीफा देना चाहिए। अगर वह स्वयं इस्तीफा नहीं देते तो उन्हें बर्खास्त किया जाए।

संजय सिंह ने कहा कि इस पूरे प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच जरूरी है, क्योंकि इसमें सत्ता से जुड़े ताकतवर लोग शामिल हैं। मामले में मुख्यमंत्री को अविलंब कार्यवाही करनी चाहिए। इसके साथ ही संजय सिंह ने 1621 शिक्षकों के परिवारों को मुआवजा एवं नौकरी देने की मांग दोहराई। कहा कि सरकार चुनाव ड्यूटी के दौरान मारे गए शिक्षक एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की सही सूची तैयार करवाए। मामले में संवेदनहीनता का प्रदर्शन कर रही योगी सरकार ने अगर इस संबंध में शीघ्र उचित कार्यवाही नहीं की तो आम आदमी पार्टी उन्हें न्याय दिलाने के लिए आंदोलन करेगी।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न