सभी प्रथम वर्ष के छात्रों को उ0प्र0 के विश्वविद्यालय करेंगे प्रमोट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी से पिछले एक साल में शिक्षण संस्थानों पर बहुत ही ज्यादा प्रभाव पड़ा है। अभी इन सब के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने ये फैसला किया है की विश्वविद्यालयों में स्नातक और स्नातकोत्तर कक्षाओं में फर्स्ट ईयर के सभी छात्रों को सेकंड ईयर में प्रोमोट किया जाएगा। फिलहाल उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालयों में विभिन्न स्नातक और स्नातकोत्तर सिलेबस के फाइनल ईयर के छात्रों का मूल्यांकन उनकी डिग्री प्राप्त करने से पहले एक एग्जाम के माध्यम से किया जाएगा। 

ये सिफारिशें छात्रों को बढ़ावा देने के तौर तरीकों पर काम करने के लिए गठित तीन सदस्यीय समिति द्वारा की गई हैं। उन विश्वविद्यालयों के लिए जहां वार्षिक योजना के तहत यूजी और पीजी दोनों सिलेबस चलाए जाते हैं। समिति ने सभी फर्स्ट ईयर के छात्रों को सेकंड ईयर में प्रोमोट करने का निर्णय लिया है। ऐसे सभी छात्रों के फर्स्ट ईयर के रिजल्ट सेकंड ईयर की परीक्षाओं में उनके प्रदर्शन के आधार पर तैयार किए जाएंगे। 2020 में फर्स्ट ईयर के छात्रों के लिए परीक्षा आयोजित करने वाले विश्वविद्यालय ऐसे छात्रों के फर्स्ट ईयर में उनके प्रदर्शन के आधार पर सेकंड ईयर के परिणाम तैयार करेंगे। इसके बाद छात्रों को थर्ड ईयर में प्रमोट किया जाएगा। सेकंड ईयर के छात्र जिन्होंने पिछले साल परीक्षा नहीं दी थी वे भी परीक्षा देंगे।

जो विश्वविद्यालय 2020 में फर्स्ट ईयर के लिए परीक्षा आयोजित नहीं कर सके छात्रों को ओएमआर आधारित परीक्षा के माध्यम से सेकंड ईयर में परीक्षा देनी होगी। परीक्षा में उनके प्रदर्शन के आधार पर उन्हें थर्ड ईयर में प्रवेश दिया जाएगा। राज्य और निजी दोनों विश्वविद्यालयों को 13 अगस्त से पहले ओएमआर आधारित परीक्षा आयोजित करनी होगी जिसमें बहुविकल्पीय प्रश्न होते हैं। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार सेमेस्टर सिस्टम के तहत दूसरे सेमेस्टर के जिन छात्रों ने अपनी परीक्षा नहीं दी है। उनके लिए सभी विश्वविद्यालय पहले सेमेस्टर की परीक्षा में अपने प्रदर्शन के आधार पर परिणाम तैयार करेंगे। सभी यूजी और पीजी छात्रों के लिए एक ही फॉमूर्ला लागू होगा जो विषम सेमेस्टर में हैं।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न