लोक जन संघर्ष पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सहित कई पदाधिकारी 'आप' में हुए शामिल

लखनऊ। आज जब प्रदेश के लोग कोरोना महामारी के कारण त्राहि-त्राहि कर रहे हैं तब योगी सरकार और भाजपा उन्हें राहत पहुंचाने की तैयारी करने की जगह आपसी खींचतान में व्यस्त है। महामारी के साथ-साथ बढ़ती बेरोजगारी को लेकर आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने करारा हमला बोलते हुए सरकार पर 69000 शिक्षक भर्ती में जानबूझकर गड़बड़ी करने का आरोप लगाया।
 
वह प्रदेश कार्यालय में शुक्रवार को लोक जन संघर्ष पार्टी से आए राष्ट्रीय महासचिव रामनिवास शुक्ल, राष्ट्रीय सचिव उमाशंकर अर्कवंशी और उनके साथियों को आम आदमी पार्टी की सदस्यता दिलाते हुए एक प्रेस वार्ता को संबोधित कर रहे थे। राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने प्रदेश के मौजूदा राजनीतिक हालात पर चिंता जताते हुए कहा कि देश और दुनिया के चिकित्सक एवं विज्ञानी जब हमें कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सावधानी बरतने और तैयारी करने के लिए कह रहे हैं, उस समय उत्तर प्रदेश सरकार और सत्ताधारी दल भाजपा आपसी झगड़े में उलझी हुई है। तैयारी के इस अति महत्वपूर्ण समय में भाजपा के शीर्ष नेतृत्व की ओर से योगी सरकार की समीक्षा की जा रही है। जब दिल्ली की केजरीवाल सरकार तेजी से तीसरी लहर से निपटने की तैयारी में जुटी हुई है तब यूपी की योगी सरकार में कौन मंत्री बनेगा या किसे हटाया जाएगा, मुख्यमंत्री रहेंगे या फिर बदले जाएंगे, इसे लेकर राजनीति चरम पर है।
 
संजय सिंह ने महामारी काल में सत्ताधारी दल और प्रदेश सरकार के इस व्यवहार की जमकर आलोचना करते हुए कहा कि यूपी की जनता के साथ अब भाजपा का शीर्ष नेतृत्व समीक्षा करके जान चुका है कि योगी सरकार हर मोर्चे पर फेल साबित हुई है। शीर्ष नेतृत्व द्वारा प्रदेश सरकार के कार्यों की समीक्षा पर आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी राज्यसभा सांसद संजय सिंहने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री बीएल संतोष ने योगी सरकार की नाकामियों के बारे में सुनकर ही पूरे देश में यूपी को समीक्षा के लिए चुना। केन्द्रीय नेतृत्व के आगे सरकार की पूरी नाकामी सामने आ चुकी है। बंद कमरे में एक एक मंत्री विधायक से योगी जी की रिपोर्ट माँगी जा रही है। केन्द्रीय नेतृत्व भी मानता है, योगी सरकार हर मोर्चे पर फेल साबित हुई है। कोरोना काल में जनता को अनाथ छोड़ ने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील है कि या तो अपनी नाकामियों को स्वीकारते हुए वह नैतिकता के आधार पर अपना इस्तीफा दे दें या फिर तीसरी लहर को लेकर तैयारियों में जी जान से जुट जाएं।
 

संजय सिंह ने महामारी के साथ-साथ बढ़ती जा रही बेरोजगारी को लेकर चिंता जताई। कहा कि सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों का मजाक बनाने में जुटी हुई है। सरकार फर्जी ढंग से 4 लाख नौकरियां देने का दावा करती है जिसमें से एक प्रमुख भर्ती 69000 शिक्षक भर्ती है। इस भर्ती की सच्चाई यह है कि इसमें अब तक अभ्यर्थियों को नियुक्ति नहीं मिली है। सरकार ने जानबूझकर पिछड़ा वर्ग आरक्षण में गड़बड़ी करके इस भर्ती को लटकाने की साजिश रची। राज्यसभा सांसद ने इसे योगी सरकार का भर्ती घोटाला बताया। संजय सिंह ने इस तरह की मानसिकता से ऊपर उठकर सरकार से इन सभी पदों पर शीघ्र अति शीघ्र तैनाती सहित अन्य रिक्त पदों के लिए आवेदन जारी करने की अपील की।
 
लोक जन संघर्ष पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रामनिवास शुक्ल सहित कई पदाधिकारी शुक्रवार को आम आदमी पार्टी में शामिल हुए। सांसद संजय सिंह ने सभी को सदस्यता दिलाई। संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार के कामों और नीतियों से प्रभावित होकर उत्तर प्रदेश के प्रत्येक जिले में लोग तेजी से संगठन से जुड़ रहे हैं। आम आदमी पार्टी लगातार प्रदेश सरकार के अत्याचार और भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठा रही है। पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने वालों में लोक जन संघर्ष पार्टी के राष्ट्रीय सचिव उमाशंकर अर्कवंशी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नानक सिंह अर्कवंशी, किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कृष्ण कुमार यादव, प्रदेश उपाध्यक्ष रामस्नेही वर्मा, प्रदेश महासचिव शिवपूजन सेन, प्रदेश उपाध्यक्ष दुजईलाल गौतम, प्रदेश कोषाध्यक्ष उपेंद्र कुमार प्रजापति, कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष लोक जन संघर्ष पार्टी श्याम कुमार प्रजापति एडवोकेट, कांग्रेस के लीगल प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश सचिव राजीव कुमार मिश्रा आदि प्रमुख रहे। प्रेसवार्ता के दौरान प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह, प्रदेश प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी, प्रदेश महासचिव दिनेश सिंह पटेल, छात्रविंग प्रदेश अध्यक्ष वंशराज दुबे मौजूद रहे ।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न