महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ पुलिसिया बर्बरता, लाठी चार्ज के साथ रस्सियों से बांधकर खींचा

लखनऊ। अयोध्या में श्रीराम मंदिर के लिये ट्रस्ट द्वारा जमीन खरीद में जनता द्वारा दिये गए चंदे का गबन घोटाला करने के विरोध में महिला कांग्रेस द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पर जमकर धरना देकर चंदा चोर-गद्दी छोड़ के जबरदस्त नारो के साथ प्रदर्शन किया, प्रदर्शनकारी महिलाओ के साथ योगी सरकार की पुलिस ने बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज करने के साथ रस्सियों से बांधकर घसीटा जिसमे कांग्रेस नेत्री करिश्मा ठाकुर व प्रतिभा अटल पाल सहित अनेक महिलाएं गम्भीर रूप से घायल हुई, पुलिस ने सैकड़ो कार्यकर्ताओ को गिरफ्तार कर लिया।

महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने श्रीराम मन्दिर ट्रस्ट द्वारा लगभग 16 करोड़ रुपये का जमीन खरीद के नाम पर घोटाला करने के विरोध में मुख्यमंत्री आवास को आज घेर कर धरना दिया, महिलाएं मुख्यमंत्री आवास तक पहुचने में सफल रहीं। उन्होंने वहां जमकर नारेबाजी करते हुए चंदा चोर, गद्दी छोड़ के नारे मुख्यमंत्री के गेट पर चढ़कर लगाए, जिस पर महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ  पुलिस ने बर्बरतापूर्वक, लाठी चार्ज किया लेकिन महिलाओं के हौसले पस्त नही हुए वह लगातार चंदे की रकम का घोटाला करने वाले के खिलाफ कार्यवाही की मांग करते हुए कहा कि भगवान राम की आस्था का दोहन कर अरबो का चंदा जमा कर हिसाब न देने वाले अब धन गबन कर आस्था का अपमान करने के साथ आर्थिक अपराध कर रहे हैं, पूरे प्रकरण की सीबीआई व ईडी से जांच कराने के साथ प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को इस घोटाले की जिम्मेदारी लेते हुए पदों से त्यागपत्र देना चाहिये।

कांग्रेस ने पुलिस द्वारा प्रदर्शनकारी महिला  कार्यकताओं की गिरफ्तारी की निंदा करते हुए कहा कि यह लोकतंत्र पर योगी सरकार का हमला निंदनीय है, चंदा चोरों को एक एक पैसे का हिसाब देना पड़ेगा। गिरफ्तार होने वाली कांग्रेस महिला कार्यकर्ताओ में जोन अध्यक्ष प्रतिभा अटल पाल, करिश्मा ठाकुर, सुशीला शर्मा, उरूसा राना, शबनम आदिल, शालू, रंजना सिंह, उज्मा बेगम, शिल्पी यादव, सावित्री देवी, कंचन पांडेय, रानी कठेरिया, रुबीना खातून, रीता मिश्रा, कंचन उपाध्याय, पुष्पा सेंगर, निशा सिंह आदि प्रमुख थी।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर