जीवन आनंद के लिए है, इसे मजाक बनाकर नहीं मजे से जिओ

जीवन बोध में जीना सीखो विरोध में नहीं, एक सुखप्रद जीवन के लिए इससे श्रेष्ठ कोई दूसरा उपाय नहीं हो सकता। जीवन अनिश्चित है और जीवन की अनिश्चितता का मतलब यह है कि यहाँ कहीं भी और कभी भी कुछ हो सकता है। यहाँ पर आया प्रत्येक जीव बस कुछ दिनों का मेंहमान से ज्यादा कुछ नहीं है। 
 
इसीलिए जीवन को हंसी में जिओ, हिंसा में नहीं चार दिन के इस जीवन को प्यार से जिओ, अत्याचार से नहीं। जीवन जरुर आनंद के लिए ही है, इसीलिए इसे मजाक बनाकर नहीं मजे से जिओ। इस दुनिया में बाँटकर जीना सीखो बंटकर नहीं जीवन वीणा की तरह है, ढंग से बजाना आ जाए तो आनंद ही आनंद है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

पीसीएस मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में नया खुलासा, ड्राइवर गिरफ्तार

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न