जीवन आनंद के लिए है, इसे मजाक बनाकर नहीं मजे से जिओ

जीवन बोध में जीना सीखो विरोध में नहीं, एक सुखप्रद जीवन के लिए इससे श्रेष्ठ कोई दूसरा उपाय नहीं हो सकता। जीवन अनिश्चित है और जीवन की अनिश्चितता का मतलब यह है कि यहाँ कहीं भी और कभी भी कुछ हो सकता है। यहाँ पर आया प्रत्येक जीव बस कुछ दिनों का मेंहमान से ज्यादा कुछ नहीं है। 
 
इसीलिए जीवन को हंसी में जिओ, हिंसा में नहीं चार दिन के इस जीवन को प्यार से जिओ, अत्याचार से नहीं। जीवन जरुर आनंद के लिए ही है, इसीलिए इसे मजाक बनाकर नहीं मजे से जिओ। इस दुनिया में बाँटकर जीना सीखो बंटकर नहीं जीवन वीणा की तरह है, ढंग से बजाना आ जाए तो आनंद ही आनंद है।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।