यूपी के 07 जिले हुए कोरोना मुक्त, नेगेटिव आरटीपीसीआर के बिना राज्य में नहीं मिलेगा प्रवेश

लखनऊ उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर पर काफी हद तक काबू पा लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट के फार्मूले की वजह से करीब 24 करोड़ की आबादी वाले इस राज्य में अब कोरोना के सिर्फ 1262 सक्रिय मामले बचे हैं। हालांकि सीएम योगी ने किसी तरह की ढिलाई नहीं बरतने का आदेश दिया है। उन्होंने राज्य के जिलों को कोरोना मुक्त बनाए जाने पर प्रसन्नता जाहिर की है।

आज जारी कोविड रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश के 7 जनपदों (अलीगढ़, चित्रकूट, हाथरस, कसगंज, महोबा, शामली और श्रावस्ती) में अब कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। ये जिले कोविड संक्रमण से मुक्त हैं। 47 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया। जबकि 28 जनपदों में इकाई अंक में मरीज पाए गए हैं। यह स्थिति बताती है कि प्रदेश में हर नए दिन के साथ कोविड महामारी पर नियंत्रण की स्थिति और बेहतर होती जा रही है। हालांकि उन्होंने ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति के मुताबिक सभी जरूरी प्रबंध करने का आदेश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी की नियंत्रित स्थिति के बीच हमें अतिरिक्त सतर्कता बरतनी होगी। ऐसे में 3 फीसदी पॉजिटिविटी दर से अधिक वाले राज्यों से उत्तर प्रदेश आने वाले लोगों के लिए नेगेटिव आरटीपीसीआर की रिपोर्ट अनिवार्य की जाए। यह रिपोर्ट चार दिनों से अधिक पुरानी न हो। ऐसे राज्यों से यूपी आने वाले लोग अपना कोविड परीक्षण कराकर ही यात्रा प्रारंभ करें। जो लोग टीकाकरण की दोनों खुराक प्राप्त कर चुके हैं, उन्हें छूट दी जा सकती है।

सड़क, वायु, रेल मार्गों के अलावा निजी साधनों से आ रहे लोगों के लिए भी यह नियम लागू किए जाए।हाई कोविड पॉजिटिविटी दर वाले राज्यों से यूपी आने वाले लोगों की गहन कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और टेस्टिंग की जाए। प्रदेश आगमन पर इनके एंटीजन टेस्ट और थर्मल स्कैनिंग जरूर किए जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि ट्रेसिंग, टेस्टिंग और तुरंत ट्रीटमेंट से अच्छे परिणाम मिल रहे हैं। पिछले 24 घंटे में 2 लाख 54 हजार 771 कोविड सैम्पल की जांच की गई। इनमें महज 56 नए मरीजों की पुष्टि हुई। जबकि 69 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। इस अवधि में पॉजिटिविटी दर 0.02% रही। प्रदेश में कोरोना की रिकवरी दर 98.6% है। अब तक 16 लाख 83 हजार से अधिक प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं। प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य सुचारु रूप से चल रहा है। अब तक उत्तर प्रदेश में 4 करोड़ 03 लाख 54 हजार से अधिक कोविड वैक्सीन लगाए जा चुके हैं। यह किसी एक राज्य द्वारा किया गया सर्वाधिक वैक्सीनेशन है। सीएम योगी ने कहा कि कोविड वैक्सीनेशन को और तेज करने की आवश्यकता है।

उन्होंने टीकाकरण के लिए ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया को प्रोत्साहित करने का आदेश दिया।योगी ने ब्लॉक प्रमुखों के शांतिपूर्ण निर्वाचन के उपरांत अब सौहार्दपूर्ण माहौल में शपथ ग्रहण के लिए प्रबंध कराने का आदेश दिया। उन्होंने कहा कि ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज तथा गृह विभाग समन्वय स्थापित करते हुए शपथ ग्रहण की समुचित व्यवस्था करें। इस दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पूरा ध्यान रखा जाए। किसी भी सूरत में नियमों से समझौता नहीं होना चाहिए। सीएम ने कहा कि कोविड महामारी के दौरान स्वास्थ्य एवं चिकित्सा कार्यों में सेवाएं देने वाले तकनीशियनों की सेवा भावना सराहनीय है। राज्य सरकार सीएचसी-पीएचसी आदि स्थानों पर हेल्थ एटीएम की स्थापना करा रही है। इस संबंध में इन तकनीशियनों को प्रशिक्षण देकर इनकी सेवाएं ली जा सकती हैं।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां