मुख्यमंत्री ने "अधीनस्थ सेवा चयन आयोग" की परीक्षा 20 अगस्त को आयोजित कराने की स्वीकृति दी


लखनऊ उत्तर प्रदेश के लाखों युवाओं के लिए बड़ी खबर है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को 20 अगस्त, 2021 को प्रीलिमिनरी इलिजिबिलिटी टेस्ट (पीईटी) आयोजित कराने की स्वीकृति प्रदान कर दी है। इस परीक्षा में 20 लाख 73 हजार 540 अभ्यर्थी सम्मिलित होंगे। यह परीक्षा प्रदेश के सभी 75 जनपदों में आयोजित की जाएगी।

इस बारे में जानकारी देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने पीईटी के सम्बन्ध में सभी जनपदों में साफ सुथरे रिकॉर्ड वाले परीक्षा केन्द्रों का चयन किये जाने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा है कि दागी व खराब छवि वाले परीक्षा केन्द्रों पर प्रीलिमिनरी इलिजिबिलिटी टेस्ट (पीईटी) कतई न आयोजित किया जाये। मुख्यमंत्री ने कहा है कि परीक्षा केंद्र बनाने से पहले वहां कैमरों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। साथ ही दूरदराज के विद्यालयों को सेंटर ना बनाएं।

परीक्षार्थियों के पते के मुताबिक उन्हें नजदीक के केंद्रों में ही समायोजित किया जाए। ताकि उन्हें दूर की यात्रा ना करनी पड़े। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी परीक्षा केंद्रों पर कोरोना वायरस प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन कराया जाएगा। केंद्र संचालक इसकी जिम्मेदारी निभाएंगे। साथ ही सरकार का एक वरिष्ठ अफसर इसकी निगरानी करेगा। बिना टेंपरेचर चेक किए परीक्षार्थियों को प्रवेश की अनुमति न दी जाए। मास्क लगाना अनिवार्य होगा। उन्होंने कहा कि बेशक वायरस की दूसरी लहर का असर कम हो गया है, लेकिन महामारी को लेकर कोई ढिलाई नहीं होनी चाहिए।`

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां