ट्वीटर पर योगी ने अखिलेश को छोड़ा पीछे, 20 दिनों पहले थी कड़ी टक्कर

  
लखनऊ। करीब 20 दिनों पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के टि्वटर पर फॉलोअर्स बराबर थे लेकिन अब योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव को टि्वटर पर फॉलोअर्स के मामले में पीछे छोड़ दिया है। इस समय योगी आदित्यनाथ के टि्वटर पर फॉलोअर्स 14.3 मिलियन है। जबकि अखिलेश यादव के 14.2 मिलियन है। 

सोशल मीडिया पर नजर रखने वाले लोगों के लिए यह एक रोचक तथ्य है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के टि्वटर पर फॉलोअर्स करीब 20 दिनों पहले बराबर थे। जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 14.1 मिलियन और अखिलेश यादव के भी फॉलोअर्स की संख्या भी 14.1 मिलियन थी। लेकिन खबर चलने के बाद काफी तेजी के साथ योगी आदित्यनाथ के फॉलोअर्स बढ़े है। मौजूदा दौर में सोशल मीडिया की ताकत का एहसास इस बात से लगाया जा सकता है कि पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी ने टिकट बांटने के लिए संभावित उम्मीदवारों की योग्यता सोशल मीडिया पर मौजूदगी भी निर्धारित की थी। पार्टी ने तय किया था कि उनके उम्मीदवार ट्विटर और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर अच्छे खासे सक्रिय होने चाहिए।
 
ठीक इसी तरह समाजवादी पार्टी ने भी अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर युवाओं को जोड़ने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ी है। अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अखिलेश यादव वर्ष 2009 से ट्विटर पर सक्रिय हैं। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ट्वीटर पर केवल उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय, संगीतकार एआर रहमान, पत्रकार बरखा दत्ता, बौद्ध भिक्षु दलाई लामा, पत्रकार भूपेंद्र चौबे, अभिनेत्री विद्या बालन, अभिनेता अमिताभ बच्चन, स्कॉटिश हिस्टोरियन विलियम डेलरिंपल, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन, ऑस्ट्रेलियाई संसद जोदी मेकी, रक्षा मंत्रालय के प्रमुख प्रवक्ता भारत भूषण बाबू, कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, भारतीय नौसेना के प्रवक्ता, अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव, भारतीय सेना और वायु सेना को फॉलो करते हैं।

दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वर्ष 2015 में ट्विटर पर आए हैं। योगी, अखिलेश यादव के मुकाबले दोगुना यानी 46 ट्विटर हैंडल फॉलो करते हैं। इनमें पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पारिकर और पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के मेमोरियल टि्वटर हैंडल भी शामिल हैं। इनके अलावा मुख्यमंत्री कार्यालय, प्रधानमंत्री कार्यालय राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, जनरल वीके सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, उत्तर प्रदेश सरकार, मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, भारतीय जनता पार्टी का लाइव टि्वटर हैंडल, मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती और यूपी के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा समेत कई केंद्रीय और राज्य सरकार के मंत्री शामिल हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के व्यक्तिगत ट्विटर हैंडल से अब तक 12,100 ट्वीट किए जा चुके हैं। वह केवल 6 वर्षों से ट्विटर पर सक्रिय हैं। शुक्रवार को उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से हुई मुलाकातों के ट्वीट भी टाइमलाइन पर देखे जा सकते हैं। दूसरी और अखिलेश यादव ने पिछले 12 वर्षों में केवल 4,069 ट्वीट किए हैं। शुक्रवार को अखिलेश यादव ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज नेता लालू प्रसाद यादव को जन्मदिन की बधाई का ट्वीट किया है। इसके अलावा उन्होंने भाजपा की सरकारों पर महंगाई, बेकारी और बेरोजगारी बढ़ाने का आरोप लगाते हुए भी एक ट्वीट किया है। शुक्रवार की सुबह अखिलेश यादव ने शहीद रामप्रसाद बिस्मिल की जयंती पर ट्वीट किया है। कुल मिलाकर ट्विटर पर सक्रियता के मामले में योगी आदित्यनाथ अखिलेश यादव से कहीं ज्यादा बेहतर हैं।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां