23 जुलाई से बसपा शुरू करेगी ब्राह्मण सम्मेलन

लखनऊ उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने अपनी बिसात बिछानी शुरू कर दी है। इसके साथ ही दलित और ब्राह्मण वोटर्स को अपनी तरफ साधने की कोशिश में जुट गई हैं। रविवार को मायावती ने माल एवेन्यू स्थित पार्टी कार्यालय में प्रेस वार्ता की इस दौरान उन्होंने सत्तारूढ़ बीजेपी पार्टी पर जमकर हमला बोला है।

उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार की खराब नीतियों से जनता बेहाल है। समाज के सभी वर्गों के लोगों का शोषण हो रहा है। खासकर इस सरकार में ब्राह्मण समाज तो बहुत ही दुखी है। मायावती ने कहा कि पिछले चुनाव में ब्राह्मण समाज के लोगों ने एकतरफा वोट देकर इनकी सरकार बनाई लेकिन अब इनके बहकावे में यह लोग नहीं आएंगे। मुझे उम्मीद है कि ब्राह्मण समाज के लोग बीएसपी से जुड़कर इस बार सर्व समाज की सरकार बनाएंगे। इसके साथ ही मायावती ने ब्राह्मण सम्मेलन की शुरुआत का आगाज किया है यह सम्मेलन 23 जुलाई को अयोध्या से शुरू होगा। बसपा ने सतीश चंद्र मिश्रा को लेकर ब्राम्हण समाज के लोगों को एकत्र करने की कोशिश में है।

उन्होंने आगे कहा कि कई मुद्दों पर केंद्र से जवाबदेही चाहिए। किसान लंबे समय से आंदोलन कर रहा। किसान की मांग पर केंद्र गंभीरता से सोचे। पेट्रोल-डीजल,रसोई गैस के दाम बढ़े। लोगों के सामने महंगाई बड़ी समस्या। कोरोना प्रभावित परिवारों की मदद हो। हमारे सांसद इन मुद्दों को गंभीरता से उठाएंगे। गलत नीतियों से बेरोजगारी बढ़ी है। योगी सरकार में उत्पीड़न हो रहा है। ब्राह्मण समाज इस सरकार में दुखी है। दलित वर्ग के लोगों पर गर्व है। ब्राह्मणों को BJP ने गुमराह किया। BJP ने दलितों को खूब खिचड़ी खिलाई। 6 जिलों में ब्राह्मणों का सम्मेलन होगा।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां