363 किमी0 में होगा इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के द्वितीय चरण का कार्य

लखनऊ। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के नेतृत्व व कुशल दिशा-निर्देशन में इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के द्वितीय चरण के कार्य की तैयारियां लोक निर्माण विभाग में चल रही हैं। उपमुख्यमंत्री मौर्य ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि इस परियोजना को ठोस व प्रभावी कार्ययोजना व रणनीति बनाकर धरातल पर उतारने का कार्य तेजी से किया जाय, इसके लिये जो भी औपचारिकताएं पूरी की जानी हैं उनका क्रियान्वयन समयबद्ध ढ़ंग से किया जाय।

लोक निर्माण विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार 363 किलोमीटर की इस परियोजना का कार्य 16 पैकेज में होना है, जिसकी अनुमानित लागत रू0 3 हजार करोड़ है। लोक निर्माण विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार 363 किमी0 में 189 किमी वाइल्ड लाईफ जोन, 15 किमी0 प्रोटेक्टेड फारेस्ट, 100 किमी0 रिजर्व फाॅरेस्ट,39 किमी0 कृषि भूमि एवं 20 किमी0 काॅमन एलाइन्मेन्ट से आच्छादित है।
 
गृह मंत्रालय भारत सरकार द्वारा वन क्षेत्र में नया संरेखण, लम्बाई एवं वन क्षेत्र में 02 लेन सी0सी0 रोड निर्माण का टिपिकल क्राॅस सेक्शन अनुमोदित किया गया है। द्वितीय चरण में स्वीकृति हेतु वन एवं वन्य जीव सम्बन्धी क्लीयरेन्स प्राप्त करने के साथ-साथ परियोजना के अवशेष भाग में डी0पी0आर0 गठन हेतु विस्तृत सर्वेक्षण का कार्य कराया जा रहा है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां