प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर बढ़कर 98.6 प्रतिशत हुई

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कोविड संक्रमण से बचाव एवं उपचार की व्यवस्था को प्रभावी ढंग से जारी रखने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि ‘ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट’ नीति कोरोना संक्रमण की रोकथाम में अत्यन्त प्रभावी सिद्ध हो रही है। उन्होंने इस नीति को पूरी सक्रियता से लागू रखने के भी निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे।
 
बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि विगत 24 घण्टों में राज्य में कोरोना संक्रमण के 93 नए मामले सामने आये हैं। इसी अवधि में 218 संक्रमित व्यक्तियों को सफल उपचार के बाद डिस्चार्ज किया गया है। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के एक्टिव मामलों की संख्या 2,032 है। मुख्यमंत्री को यह भी अवगत कराया गया कि पिछले 24 घण्टों में प्रदेश में 02 लाख 28 हजार 158 कोविड टेस्ट किये गये हैं। राज्य में अब तक 05 करोड़ 93 लाख 31 हजार 655 कोरोना टेस्ट किये जा चुके हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर बढ़कर 98.6 प्रतिशत हो गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोरोना टीकाकरण के प्रति लोगों को सतत जागरूक किया जाए। कोविड टीकाकरण की सुगमता के लिए ऑनलाइन स्लॉट बुकिंग को प्रोत्साहित किया जाए। इससे वैक्सीनेशन सेण्टर पर भीड़ एकत्र नहीं होगी।
 
उन्होंने कहा कि गांवों में कॉमन सर्विस सेन्टर के माध्यम से कोविड टीकाकरण हेतु प्रदान की जा रही निःशुल्क पंजीकरण सुविधा का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि प्रदेश में अब तक 50 लाख से अधिक लोगों को कोविड वैक्सीन की दोनों डोज दी जा चुकी हैं। अब तक लगभग 03 करोड़ 35 लाख वैक्सीन डोज एडमिनिस्टर की जा चुकी है।मुख्यमंत्री ने कहा कि अनेक औद्योगिक इकाइयां राज्य में हेल्थ ए0टी0एम0 स्थापित करना चाहती हैं। इन इकाइयों से संवाद स्थापित कर ए0टी0एम0 की स्थापना हेतु सहयोग प्रदान किया जाए। मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि निगरानी समितियों द्वारा कोरोना संक्रमण की स्क्रीनिंग एवं मेडिसिन किट वितरण का कार्य सुचारु ढंग से किया जा रहा है। प्रदेश में ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना का कार्य तेजी से चल रहा है। राज्य में अभी तक 528 ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना को स्वीकृत किया गया है।
 
इसके सापेक्ष 138 ऑक्सीजन प्लाण्ट क्रियाशील हो चुके हैं। मुख्यमंत्री ने 15 अगस्त, 2021 तक सभी ऑक्सीजन प्लांट्स की स्थापना की कार्यवाही सम्पन्न करने के निर्देश दिए हैं। ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन एवं फॉगिंग की कार्यवाही भी नियमित रूप से संचालित रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 09 मेडिकल कॉलेजों की स्थापना का कार्य लगभग पूर्ण हो गया है। इन नवीन मेडिकल कॉलेजों का संचालन प्रारम्भ किया जाना है। इसके दृष्टिगत चिकित्सकों तथा अन्य कर्मियों की नियुक्ति की जा रही है। उन्होंने नये मेडिकल कॉलेजों के लिए स्टाफ की भर्ती पूरी पारदर्शिता के साथ करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 की महामारी के कारण जिन लोगों का निधन हुआ है, उन भूमिधरों की वरासत उनके विधिक उत्तराधिकारियां के पक्ष में खतौनी में दर्ज करने के लिए आज से विशेष वरासत अभियान शुरू किया गया है।
 
उन्होंने कहा कि इस महत्वपूर्ण अभियान का लाभ सभी जरूरतमंदों को दिलाया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि खतौनी की नकल राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा लाभार्थी को उसके आवास पर उपलब्ध कराई जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि नगरीय निकायों का सीमा विस्तार किया गया है। विस्तार के परिणामस्वरूप नगरीय क्षेत्र में शामिल हुए गांवों में सभी नगरीय सुविधाएं यथा साफ-सफाई, ड्रेनेज व कूड़ा निस्तारण जैसी सुविधाएं मुहैया कराई जाएं। उन्होंने कहा कि अमृत योजना और स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत सभी कार्य तेजी से पूरे किये जाएं। उन्होंने कहा कि डूडा और सूडा के कार्यों की गुणवत्ता का परीक्षण किया जाए।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां