बाराबंकी में रामसनेहीघाट कोतवाली क्षेत्र में हुआ हादसा

बाराबंकी लखनऊ हाईवे पर मंगलवार रात यात्रियों से भरी एक डबल डेकर वोल्वो बस में पीछे से ट्रक ने टक्कर मार दी। इस हादसे में पंजाब व हरियाणा से मजदूरी करके बिहार घर लौट रहे 18 लोगों की मौत हो गई और 25 लोग घायल हो गए। इनमें 11 की हालत गंभीर होने पर लखनऊ ट्रॉमा सेंटर रेफर किया गया। देर रात जिस समय हादसा हुआ उस समय खराब बस के आगे श्रमिक लेटे हुए थे।
 
हादसे की जानकारी पर पहुंचे एसपी व स्थानीय पुलिस ने पांच घंटे तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर राहत पहुंचाई। हादसे की जानकारी होने पर एडीजी और अन्य आला अधिकारियों के साथ ही विधायक व मंत्री मौके से लेकर अस्पताल व पोस्टमार्टम हाउस तक पहुंचे। रामसनेहीघाट कोतवाली क्षेत्र में रात में कल्याणी नदी पुल के पास एक वोल्वो बस 135 सवारियों को लेकर बिहार जा रही थी। तभी बस का एक्सल टूट जाने के कारण वह खड़ी हो गई। किसी तरह चालक ने मिस्त्री बुलवाकर उसका एक्सल बनवाना शुरू कर दिया। इस दौरान कुछ यात्री जहां बस के अंदर बैठे रहे वहीं कई यात्री बस में आगे व पीछे सड़क पर ही लेट गए। देर रात हो रही भारी बारिश के बीच एक तेज रफ्तार ट्रक ने पीछे से बस में टक्कर मारते हुए सभी यात्रियों को रौंद दिया। हादसे के बाद यात्रियों की चीख-पुकार मच गई।
 
पड़ोस के पुलिस बूथ पर तैनात पुलिस कर्मी तत्काल मौके पर पहुंच गए। हादसा बड़ा होने के कारण कोतवाल, सीओ से लेकर उच्चाधिकारियों को अवगत कराया। आननफानन में उच्चाधिकारियों ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कराया। करीब 25 घायलों को एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजा गया। जबकि 15 मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई और तीन और मजदूरों को जिला अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया। जिस समय हादसा हुआ उस समय भारी बारिश होने के चलते बचाव व राहत कार्य में भी समस्या आई। इस घटना के बाद करीब तीन घंटे तक हाईवे जाम रहा और राहगीरों में अफरातफरी का माहौल व्याप्त रहा। स्थानीय जिला व पुलिस प्रशासन के अधिकारी व कर्मचारी शवों को पोस्टमार्टम करवाने और सुरक्षित लोगों को घर तक भेजवाने में लगे रहे। हादसे के बाद से बस व ट्रक दोनों के चालक फरार हैं।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन