रोहिंग्या के अवैध कब्जे पर चला योगी सरकार का बुलडोजर


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं जलशक्ति मंत्री डॉ महेन्द्र सिंह के आदेश पर आज दिल्ली स्थित मदनपुर खादर में जमीन खाली कराई गई। सिंचाई विभाग के खण्ड आगरा नहर ओखला ने यहां व्यापक स्तर पर अभियान चलाकर 5.21 एकड़ भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराया। अफसरों का कहना है कि सिंचाई विभाग की अन्य जमीनों पर किये गये अतिक्रमण को हटाने के लिए बड़े पैमाने पर शीघ्र ही कार्यवाही की जायेगी।

यह जानकारी सिंचाई विभाग, ओखला संगठन के अधिशासी अभियन्ता वीके सिंह ने आज यहां दी। उन्होंने बताया कि मदनपुर खादर में आज सुबह 4 बजे कार्यवाही करके सिंचाई विभाग की भूमि पर बने रोहिंग्या कैम्प को हटाया गया। इस दौरान तमाम अवैध निर्माण विस्थापित किये गये। यह जमीन दिल्ली के मदनपुर खादर में स्थित है। इसका कुल क्षेत्रफल 2.1080 हेक्टेअर है। वर्तमान में इसकी कीमत 97 करोड़ रुपये है। अधिशासी अभियंता ने बताया कि इस भूमि से सटी जकात फाउडेशन की भूमि पर पहले रोहिंग्याओं की बस्ती बसी हुई थी। इन लोगों ने सिंचाई विभाग की आज खाली करायी गयी भूमि पर स्थायी-अस्थायी कब्जा कर लिया था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं जलशक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह ने इन अवैध कब्जों को हटाने के लिए अधिकारियों को सख्त आदेश दिये थे।
 
इन अधिकारियों ने दिल्ली प्रशासन के अफसरों के साथ 20 जुलाई, 2021 को बैठक करके इस जमीन को खाली कराये जाने का निर्णय लिया। इस निर्णय के तत्काल अनुपालन के लिए आज 22 जुलाई, 2021 को सुबह उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों एवं दिल्ली पुलिस, सिविल डिफेंस स्वयं सेवकों की मदद से अभियान चलाया गया। इसके तहत ग्राम मदनपुर खादर में सिंचाई विभाग की भूमि खसरा नं- 612 को अतिक्रमण मुक्त करा लिया गया। इस कार्यवाही के दौरान सिंचाई विभाग के अधिकारियों में सहायक अभियंता धीरज कुमार प्रथम, जिलेदार शशिभान सिंह के अलावा अन्य राजस्व कर्मी उपस्थित थे।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां