योगी सरकार ने विजय के लिए लोकतंत्र की परिभाषाएं तार-तार की- दिलीप पांडेय


लखनऊ। ब्‍लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान शनिवार को पूरे उत्‍तर प्रदेश में जो हिंसा हुई, उसने साबित कर दिया कि उत्‍तर प्रदेश जंगल राज का पर्याय बन चुका है। हमने यहां की बहुत सारी ऐसी छोटी-छोटी वीडियो देखी होंगी जिसमें आदित्‍यनाथ की सरकार और पुलिस वि‍पक्ष का दमन करते हुए नजर आ रही है।

कई जगहों पर आपने देखा पुलिस के अधिकारी बुरी तरह से भारतीय जनता पार्टी के नेताओं द्वारा पीटे जा रहे हैं तो कहीं यह भी देखने को मिला कि भाजपा नेताओं के साथ मिलकर पुलिसवाले महिलाओं से बदतमीजी कर रहे हैं, विपक्षियों को पीट रहे हैं, अगवा करने का काम कर रहे हैं। सीधा-सीधा योगी आदित्‍यनाथ जी का पूरा तंत्र खुद को विजयी बनाने के लिए लोकतंत्र की जो सामान्‍य सी परिभाषाएं हैं, उनको तार-तार करने में जुट गया। अपहरण, गुंडागर्दी, मारपीट के बाद हथियाई गई सीटों को योगी आदित्‍यनाथ अपनी जीत बता रहे हैं। ये बातें आम आदमी पार्टी के दिल्‍ली के पूर्व प्रदेश अध्‍यक्ष एवं तिमारपुर के विधायक दिलीप पांडेय ने यूपी के मुख्‍य प्रवक्‍ता वैभव माहेश्‍वरी के साथ संयुक्‍त पत्रकार वार्ता के दौरान कहीं। दिलीप पांडेय ने कहा कि चुनाव के दौरान हुई हिंसक घटनाओं की एक कंपाइल वीडियो मीडिया के आगे पेश की।

शर्मनाक घटनाओं पर योगी सरकार को घेरते हुए कहा कि इसके बाद भाजपा के बड़े नेता कतार में खड़े होकर एक दूसरे को जीत की बधाइयां दे रहे हैं, लेकिन इस सबके पीछे जो सच है वो भाजपा सरकार नहीं छिपा पा रही है और सच यह है कि योगी राज में कुर्सी के लिए बहुत सलीके से दिनदहाड़े लोकतंत्र की हत्‍या की गई है। लोकतांत्रिक मूल्‍यों को तार-तार कर दिया गया है। जिसे भाजपा अपनी विजय श्री बताने में लगी हुई है, दरअसल वो 2022 में उनके पतन की शुरुआत है। ये उनके नीचे गिरने की शुरुआत है। मुख्य प्रदेश प्रवक्ता वैभव माहेश्‍वरी ने कहा कि वीडियो में दिख रहा है कि कैसे भाजपा के लोग महिलाओं के साथ दिनदहाड़े बदसलूकी कर रहे हैं। पत्रकारों को पीटा जा रहा है। प्रत्‍याशियों के पर्चे छीनकर फाड़ दिए जा रहे हैं। सदस्‍यों का अपहरण कर लिया जा रहा है, विपक्षियों को पीटा जा रहा है।

मैं योगी आदित्‍यनाथ को चुनौती देता हूं कि अगर उन्‍हें जरा सा भी यह एहसास हो कि उनके कार्यों से उनके दल और सरकार की लोकप्रियता बढ़ी है तो अपने वायदे के मुताब‍िक जिला पंचायत सदस्‍य या क्षेत्र पंचायत सदस्‍य की तरह ब्‍लॉक प्रमुख और जिला पंचायत अध्‍यक्ष का चुनाव सीधे जनता से करा लीजिए। उन्‍होंने सरकार द्वारा चुनाव में किए गए कृत्‍य को पानी सिर से निकलने वाला काम बताते हुए कहा कि यूपी की जनता ने अब योगी सरकार की विदाई का मन बना लिया है। उधर, पंजाब के लिए 300 यूनिट फ्री बिजली की घोषणा पर आए एक सवाल के जवाब में दिलीप पांडेय ने कहा कि दिल्‍ली मॉडल के मुताबिक, आम आदमी की जरूरतें सरकार की प्राथमिकता है। इसमें मुफ्त बिजली प्रमुख है। इसी मॉडल को लेकर आप पंजाब गई है। यूपी में इस पर काम कर रही है। पार्टी जहां भी राजनीति करेगी ये मुद्दा सर्वोपरि रहेगा।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन