बार-बार हाथ धोना ही कोरोना से बचाता है

लखनऊ| विशेष संचारी रोग अभियान के तहत मलिहाबाद ब्लाक के टिकैतगंज और हमीरागंज गाँव में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संजय भटनागर की अध्यक्षता में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया| इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा- बारिश का मौसम आते ही जगह-जगह पर पानी भरने के कारण मच्छर पनपते हैं| हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि घर हो या अड़ोस–पड़ोस कहीं पर भी पानी न भरने पाए|

साथ ही न कूड़े का ढेर और गन्दी हो क्योंकि ऐसी जगहों पर भी मच्छर पनपते हैं| हम पहले ही साफ़-सफाई कर लेंगे तो मच्छरजनित परिस्थितयां नहीं पनप पायेंगी| आज कल कोरोना का संक्रमण भी फैला हुआ है ऐसे में हमें हाथों की सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए | बार-बार हाथ धोने से जहाँ यह कोरोना से तो बचाता ही है साथ में डायरिया जैसी बिमारियों से भी हमारी रक्षा करता है| खाना बनाने से पहले, खाने से पहले शौच के बाद, 6 माह तक बच्चों को स्तनपान कराने से पहले हाथ जरूर धोएं चाहिए| डा. संजय भटनागर ने कहा- कोरोना से बचाव के अन्य प्रोटोकॉल्स जैसे मास्क लगाना और दो गज की शारीरिक दूरी का पालन जरूर करें| बेवजह घर से बाहर न निकले और बार-बार अपने चेहरे को न छुएं|


साथ ही 18 से 44 वर्ष तथा 45 वर्ष से अधिक आयु के लोग कोरोना का टीका जरूर लगवाएं| राष्ट्रीय वेक्टर जनित नियन्त्रण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी और अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. के.पी.त्रिपाठी ने बताया-बारह जुलाई से दस्तक अभियान शुरू हो रहा है जो 25 जुलाई तक चलेगा| इस अभियान के दौरान आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर- घर जाकर दस्तक अभियान के तहत इंफ्लूएंजा लाइक इलनेस (आईएलआई) के मरीजों, बुखार के मरीजों, क्षय रोग के लक्षण वालों और कुपोषित बच्चों की सूची बनायेंगी। टीबी के जो भी संभावित रोगी चिन्हित होंगे उनकी जांच कराई जाएगी और पुष्ट होने पर इलाज शुरू कराया जाएगा। साथ ही बुखार के रोगियों की जांच कराकर देखा जाएगा कि उनमें कहीं इंसेफेलाइटिस, कोविड, मलेरिया, डेंगू आदि के लक्षण तो नहीं हैं।

इसके लावा कुपोषित बच्चों का भी इलाज शुरू कराया जाएगा और आवश्यकता पड़ने पर उन्हें जिला अस्पताल में संचालित पोषण पुनर्वास केंद्र (एनआरसी) भेजा जाएगा। इस मौके पर उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. मिलिंद वर्धन, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी योगेश रघुवंशी, जिला मलेरिया अधिकारी डी.एन.शुक्ला, मलिहाबाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक डा. अवधेश, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी राजेश कुमार सिंह, ब्लाक कार्यक्रम प्रबंधक पवन राठोर, ब्लाक समुदाय प्रक्रिया प्रबंधक मिथलेश, एएनएम अर्चना कुमारी, आशा कार्यकर्ता शची देवी और मुन्नी देवी तथा संचारी अभियान में शामिल अन्य विभागों के प्रतिनिधि तथा टिकैतगंज गाँव की प्रधान निशा रावत ने प्रतिभाग किया|

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां