मुख्यमंत्री ने सभी अवशेष प्रकरणों को तत्काल निस्तारित कर पोर्टल पर अपलोड करने के दिये निर्देश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मानव अधिकारों के संरक्षण पर बल देते हुए मानवाधिकार से सम्बन्धित विभिन्न विभागों में लम्बित प्रकरणों के शीघ्र निस्तारण के निर्देश दिये है। अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी की अध्यक्षता में आज लोक भवन में आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक में प्रदेश के विभिन्न विभागों में लम्बित मानवाधिकार के प्रकरणों की गहन समीक्षा की गयी।
 
बैठक में बताया गया कि मानवाधिकार से सम्बन्धित मामलों में प्रदेश सरकार अत्यन्त सजग एवं संवेदनशील है तथा मानवाधिकार हनन से सम्बन्धित मामलों में तत्परता से कार्यवाही की जा रही है। अपर मुख्य सचिव, गृह ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से प्राप्त लम्बित प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की। बैठक में बताया गया कि अधिकांश मामले निपटा दिये गये है। अवस्थी ने कहा कि विशेष प्रयास करके सभी अवशेष मामले तत्काल निपटा दिये जाये व इसकी जानकारी पोर्टल पर भी अपलोड कर दी जाय। बैठक में सचिव, गृह, तरूण गाबा के अलावा कारागार, ऊर्जा, बेसिक शिक्षा, उच्च शिक्षा, चिकित्सा शिक्षा, बाल विकास पुष्टाहार, नगर विकास व आवास विभाग के अधिकारियों के साथ हाईकोर्ट लखनऊ बेंच के रजिस्ट्रार भी शामिल हुए।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां