भाजपा के रहते नौजवानों की बेकारी बढ़ी और बेलगाम हुई महंगाई- अखिलेश यादव

उन्नाव समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा के लोग झगड़ा लगाने का काम करते हैं। भाजपा ने पंचायत चुनावों में नोट का इस्तेमाल किया और ब्लाक प्रमुख तथा जिला पंचायत अध्यक्षों के पद हथिया लिए। भाजपा ने सरकारी संस्थाओं को बेच दिया है। भाजपा सरकार के रहते नौजवानों की बेकारी बढ़ी, महंगाई बेलगाम हुई। साढ़े चार साल में एक फैक्ट्री प्रदेश में नहीं लगी है। लोगों को इस सरकार ने भुखमरी के कगार पर पहुंचा दिया है। प्रदेश में मंत्रिमण्डल विस्तार का कोई मतलब नहीं। यहां लोकतंत्र दिखाई नहीं दे रहा है।

उन्होंने कहा भाजपा झूठी पार्टी है, इसे हटाइए। समाजवादी पार्टी इस बार 350 सीटें जीतेगी।अखिलेश यादव आज उन्नाव से भाजपा के खिलाफ शंखनाद किया। उन्होंने सरौसी गांव में 85वीं जयंती के अवसर पर मनोहर लाल इंटर कालेज में स्थापित स्वर्गीय मनोहर लाल की प्रतिमा का अनावरण करने के उपरांत एकत्र समुदाय को सम्बोधित कर रहे थे। स्वर्गीय मनोहर लाल विधायक, सांसद तथा मंत्री रहे थे। यादव ने कहा कि आज यहां बड़ी रैली होनी थी जिसकी प्रशासन ने अनुमति नहीं दी है। जब कोविड खत्म होगा तो लाखो की रैली होगी। उन्होंने स्वर्गीय मनोहर लाल को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि जीवनभर वे गरीबों, दलितों, पिछड़ों की आवाज उठाते रहे और उनके लिए संघर्ष करते रहे। उनके संघर्ष की वजह से मुख्यधारा में खड़े नहीं होने वाले भी आगे आ पाए हैं।

उन्होंने उनके पुत्र स्वर्गीय दीपक कुमार की पत्नी मनीषा दीपक के कोरोना से निधन पर दुःख जताते हुए सभी कोरोना पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की। यादव ने कहा कि सन् 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए बहुत कम समय बचा है। भाजपा ने जनता को बुरी तरह निराश किया है। उसके वादे सपने बनकर रह गए हैं। अपने संकल्प-पत्र का एक भी वादा पूरा नहीं किया। किसान की आय दुगनी करने का वादा था, उल्टे किसानों की आय कम कर दी है। नौजवानों को रोजगार नहीं मिला। समाज के सभी वर्गो के लोग भाजपा सरकार को हटाना चाहते है। यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी जनता के बीच रहेगी। समाजवादी पार्टी भाजपा का विकल्प है। उन्होंने कहा कोरोना से मौतों के लिए सरकार की लापरवाही जिम्मेदार है। जनता को बहुत दुःख और परेशानियों का सामना करना पड़ा है। कोविड़ संक्रमितों को न बेड मिला, न इलाज और नहीं आक्सीजन मिली।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार की नाकामी सबके सामने है। तीसरी लहर की चर्चा है पर भाजपा सरकार इसके लिए क्या तैयारियां कर रही है, पता नहीं? भाजपा झूठ बोलने वाली पार्टी है वह गुमराह करती है। सरकार ने कोविड संक्रमण के समय जनता को अनाथ छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा कभी मृतकों की संख्या नहीं बताएगी क्योंकि सुप्रीमकोर्ट ने 4 लाख रूपये मुआवजा देने को कहा है। उस समय भाजपा के लोग कहीं मदद में नहीं दिखाई दिए। केवल समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता ही राशन, दवा, ऑक्सीजन की मदद करने में सक्रिय रहे। समाजवादी सरकार ने जो 108 एम्बुलेंस चलाई थी वही मददगार बनी। यादव ने कहा कि भाजपा सरकार के समय नेताओं, पत्रकारों आदि कई लोगों की जासूसी की खबरें है। भाजपा का राज्य विधान सभा संसद तक भारी बहुमत है। फिर उसे जासूसी कराने की क्या जरूरत आ पड़ी? यह जासूसी करना दण्डनीय अपराध है। भाजपा के फैसले जनहित में नहीं है। अखिलेश यादव ने कहा कि लॉकडाउन में शिक्षा-स्वास्थ्य व्यवस्था पटरी से उतर गई।


समाजवादी पार्टी की सरकार में लैपटॉप बंटे थे। वहीं बच्चों की पढ़ाई में काम आ रहे हैं। उन्होंने कहा कौन भाजपा के वादों पर भरोसा करेगा? भाजपा चुनाव के वक्त दूसरे मुद्दे ले आती है। उसे संविधान की परवाह नहीं है। भाजपा से सावधान रहना है। यादव ने कहा भाजपा समाजवादी पार्टी की सरकार जैसे काम नहीं कर पाएगी। सड़क, बिजली-पानी की जगह भाजपा बहकाने से काम चलाती है। वह विकास से नफ़रत करती है। उन्होंने कहा समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर गरीबों को लोहिया आवास दिए जाएंगे। जिसमें बिजली का बिल नहीं देना होगा। बेहतर आवास निर्माण के साथ गरीबों को समाजवादी पार्टी की सरकार में बिजली बिल में विशेष राहत मिलेगी। उन्होंने उम्मीद जताई कि लोग समाजवादियों का काम देखेंगे। इस बार सभी भाजपा को हटाने में सहयोगी बने क्योंकि भाजपा सरकार के रहते प्रदेश खुशहाल नहीं हो सकता है।

अखिलेश यादव का लखनऊ-कानपुर हाई-वे पर जगह-जगह भव्य स्वागत किया गया। लखनऊ से क्रांति रथ पर सवार अखिलेश यादव के स्वागत में सर्वत्र जोशीली भारी भीड़ थी। उन्नाव में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम में लखनऊ से जाते हुए रास्ते में अमौसी में मेट्रो स्टेशन पर भी बड़ी तादाद में लोग एकत्र थे। मेट्रो रेल का मुख्यालय वहीं है जहां मेट्रो का समाजवादी सरकार में 3 मार्च 2014 को शिलान्यास हुआ था। गौरी सरोजनीनगर, अमौसी एयरपोर्ट, दारोगा खेड़ा, बंथरा, बंथरा बाजार, कटी बगिया, बनी, नवाबगंज और उन्नाव में हर जगह अखिलेश यादव का जय-जयकार के साथ फूल-मालाओं से भव्य स्वागत किया गया। उन्नाव पुल के पास व्यापारियों ने स्वागत किया। यहां उन्हें दुर्गा माता की पूजी चुनरी भेंट की गई। सरौसी गांव में जहां मुख्य कार्यक्रम था वहां हजारों की भीड़ इकट्ठा हो गई थी। लोगों ने उन पर फूल बरसाए, सारा माहौल अखिलेश यादव जिन्दाबाद के नारों से गूंजता रहा है।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां