मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एसजीपीजीआईएमएस गवर्निंग बाॅडी की बैठक आयोजित

लखनऊ। मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में एसजीपीजीआईएमएस गवर्निंग बाॅडी की बैठक संपन्न हुई। बैठक में वित्तीय वर्ष 2021-22 का संशोधित बजट इस्टीमेट, पीपीपी माॅडल पर एमआरआई एवं सीटी स्कैन मशीन की स्थापना, पल्मोनरी मेडिसिन डिपार्टमेन्ट में सीनियर रेजीडेन्ट के पदों में वृद्धि, नेफ्रोलाॅजी विभाग में डी0एम0 नेफ्रोलाॅजी सीटों में वृद्धि, डिपार्टमेन्ट आॅफ इम्यूनोलाॅजी में डी0एम0 सीट 04 से 06 किये जाने व 01 पीडीसीसी पीडियाट्रिक सीट में वृद्धि, डिपार्टमेन्ट आॅफ इन्डोक्राइन सर्जरी में 03 अतिरिक्त सीनियर रेजीडेन्ट के पद, डिपार्टमेन्ट ऑफ क्रिटिकल केयर मेडिसिन में सीनियर रेजीडेन्ट के पदों में वृद्धि के प्रस्ताव आदि पर विस्तृत विचार-विमर्श किया गया।

बैठक में बताया गया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में कैपिटल हेड के अंतर्गत 111.01 करोड़ रुपये आवंटित किये गये हैं, जिसमें से 70 करोड़ रुपये निर्माण कार्यों के लिए, 40 करोड़ रुपये मेडिकल उपकरणों के लिए तथा 01 करोड़ रुपये केन्द्र प्रायोजित टीसीसीसी के लिए प्राविधान किया गया है। रेवेन्यू हेड के अंतर्गत 866.01 करोड़ रु0 प्रस्तावित किये गये हैं, जो कि सेलरी, पेंशन एवं सेवानिवृत्ति देयों का भुगतान, सिविल एवं इलेक्ट्रिकल के अनुरक्षण कार्यों, कर्मचारियों के कल्याण, अन्य कन्टीजेन्ट व्यय, बीपीएल मरीजों के इलाज, ट्रामा सेण्टर के मरीजों के निःशुल्क इलाज आदि के लिए प्रस्तावित किये गये हैं। उक्त में 782 करोड़ रु0 ग्राण्ट इन एड तथा 73.16 करोड़ रु0 संस्थान के स्वयं के रिसोर्सेस जैसे कि हाॅस्पीटल चार्जेज आदि व पिछले वर्षों के सरप्लस से व्यवस्था किया जाना प्रस्तावित किया गया है। इसके अतिरिक्त बैठक में अवगत कराया गया कि पीपीपी माॅडल पर संस्थान में एक अतिरिक्त एमआरआई एवं सीटी स्कैन मशीन की स्थापना की कार्यवाही प्रचलित है।

पल्मोनरी मेडिसिन डिपार्टमेन्ट में सीनियर रेजिडेन्ट्स के पदों को 14 से बढ़ाकर 20 करने का प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया। इसके अलावा नेफ्रोलाॅजी डिपार्टमेन्ट में डीएम नेफ्रोलाॅजी की 06 सीटों को बढ़ाकर 09 सीट करने का प्रस्ताव भी रखा गया। इसी प्रकार डिपार्टमेन्ट ऑफ क्लीनिकल इम्यूनोलाॅजी में डी0एम0 सीट्स को 04 से बढ़ाकर 06 करने तथा 01 सीट पीडीसीसी पीडियाट्रिक में वृद्धि का प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया। इसके अतिरिक्त क्रिटिकल केयर मेडिसिन में बेड की संख्या 21 से बढ़ाकर 33 करने पर भी सहमति व्यक्त की गई। काॅलेज आॅफ मेडिकल टेक्नाॅलाजी में ट्यूटर के 04 पद सृजित करने का भी निर्णय लिया गया। नेफ्रोलाॅजी, पल्मोनरी, मेडिसिन एवं क्लिनिकल इम्यूनोलाॅजी विभाग में डी0एम0 कोर्स की सीट बढ़ाने पर भी चर्चा की गई।

Popular posts from this blog

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने शुरू की तैयारियां