अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस के मौके पर 22 युवाओं को राष्ट्रीय युवा पुरस्कार प्रदान किए

नई दिल्ली केंद्रीय युवा मामले और खेल मंत्री, अनुराग सिंह ठाकुर ने विज्ञान भवन में आयोजित एक समारोह में राष्ट्रीय युवा पुरस्कार 2017-18 और 2018-19 प्रदान किए। अनुराग ठाकुर ने अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस 2021 के उपलक्ष्य मेंकृषि-उद्यम चुनौती एस.ओ.एल.वी.ई.डी 2021 (सामाजिक उद्देश्य-नीत स्वयंसेवी उद्यम विकास) की दस युवा विजेता उद्यमी टीमों को भी सम्मानित किया। इस अवसर पर युवा मामले और खेल मंत्रालय की सचिव उषा शर्मा;  संयुक्त राष्ट्र की रेजिडेंट कोऑर्डिनेटर डिर्डे बॉयड और युवा मामलों के संयुक्त सचिव असित सिंह उपस्थित थे

अनुराग ठाकुर ने पुरस्कार समारोह के दौरान अपने संबोधन में कहा, “आज संयुक्त राष्ट्र (यूएन) द्वारा निर्धारित अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस का वार्षिक उत्सव है। अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस केवल कैलेंडर का एक दिन नहीं है। भारत के युवा "भारत का भविष्य" होने के साथ-साथ व्यापक रूप में "भारत का वर्तमान" हैं। वे एआई यानी आत्मनिर्भर इनोवेशन” (आत्मनिर्भर नवाचार) के इस युग में विचारों और नवाचार के संचालक हैं। अनुराग ठाकुर ने कहाइस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस की थीम विषय खाद्य प्रणालियों को बदलने पर केंद्रित हैयुवाओं के साथ जुड़ाव इस बदलाव की कुंजी है। युवाओं के नेतृत्व में कृषि-तकनीक नवाचार इस क्षेत्र में नए उभरते रुझानों को प्रेरित कर रहे हैं। इस तरह के वैश्विक प्रयास की सफलता युवाओं की सार्थक भागीदारी के बिना हासिल नहीं की जा सकती।

 

नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सरकार ने हमारे युवा नागरिकों के लिए व्यावसायिक शिक्षाकौशलस्टार्टअप फंडिंग (वित्त पोषण) की दिशा में विभिन्न पहलों को प्राथमिकता दी है। हमारा लक्ष्य भारत के युवाओं को दुनिया का सबसे बड़ा कौशल बनाना है। मैं सभी राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेताओं को बधाई देता हूं। पुरस्कार प्रदान करने के पीछे हमारा उद्देश्य युवाओं को उत्कृष्टता हासिल करने के लिए प्रेरित करना है।" इस अवसर पर सुश्री डिर्डे बॉयड ने कहा कि भारत के पास दुनिया के साथ साझा करने के लिए बहुत कुछ जानकारी उपलब्‍ध है, भारत में युवाओं की बड़ी आबादी है। युवाओं में परिवर्तन करने की शक्ति होती है, उनके पास देश की प्रगति के लिए बेहतर और नवीन विचार होते हैं। दुनिया भर में युवा सतत विकास में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। 


युवा मामले विभाग की सचिव उषा शर्मा ने कहा कि भारत के युवा एक परिवर्तनकर्ता, नवप्रवर्तक, युवा उद्यमी और समुदाय के हितों की रक्षा करने वाले निस्वार्थ स्वयंसेवक के रूप में बहुआयामी भूमिका निभा रहे हैं। व्यक्तिगत और संगठनों की श्रेणियों में कुल 22 राष्ट्रीय युवा पुरस्कार दिए गए हैं। एनवाईए 2017-18 के लिए कुल 14 पुरस्कार दिए गए थे, जिनमें व्यक्तिगत श्रेणी में दिए गए 10 पुरस्कार और संगठन श्रेणी में दिए गए 4 पुरस्कार शामिल हैं। एनवाईए 2018-19 के लिए कुल 8 पुरस्कार दिए गए थे, जिनमें व्यक्तिगत श्रेणी में दिए 7 पुरस्कार और संगठन श्रेणी में दिया गया एक पुरस्कार शामिल हैं। इस पुरस्कार में व्‍यक्तिगत श्रेणी में एक पदक, एक प्रमाण पत्र और 1,00,000/- रुपये का नकद पुरस्कार तथा संगठन श्रेणी में 3,00,000/- रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाता है।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन