40 लाख शहरी गरीबों का "अपना घर का सपना" हुआ पूरा


लखनऊ। "अपना घर" का सपना संजोने वालों के लिए श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का शुभ अवसर यादगार हो गया। खास मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सूबे के 02 लाख 853 लोगों को घर बनाने के लिए ₹1341.17 करोड़ की धनराशि सीधे उनके बैंक खाते में भेजी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने वर्ष 2022 तक "सबको आवास" का संकल्प दोहराते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में अब तक 40 लाख शहरी गरीबों के 'घर' का सपना पूरा हुआ है, यह काम तेजी से जारी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोई भी परिवार बेघर नहीं रहेगा।

सोमवार को मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित इस वर्चुअल कार्यक्रम में सूबे के 650 से अधिक नगरीय निकायों से 50 हजार से अधिक लोग जुड़े थे। कार्यक्रम में पीएम आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत 98,234 लोगों को पहली क़िस्त, 34,369 को दूसरी और 68,250 लाभार्थियों को तीसरी क़िस्त मिली।सीधे लाभार्थियों के बैंक खाते में धनराशि भेजते हुए सीएम ने कहा कि एक समय था कि जब एक प्रधानमंत्री कहते थे कि वो दिल्ली से ₹100 भेजते हैं और आम आदमी को ₹15 मिलता है, लेकिन आज प्रधानमंत्री मोदी ने तकनीक की मदद से ऐसी व्यवस्था कर दी है, जिससे ₹100 के ₹100 लाभार्थी को मिल रहा है। आवास के लिए पैसे चाहिए या व्यवसाय के लिए लोन, अगर आप अर्हता पूरी करते हैं तो बिना सिफारिश, बिना घूस, पूरी मदद मिलनी तय है और अब तो बैंक जाने की भी जरूरत नहीं, गांव-गांव में बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंट सखी तैनात हैं।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री से बातचीत करते हुए पीएम आवास और स्वनिधि योजना के लाभार्थियों ने भी बताया कि उन्हें कहीं भी किसी को भी घूस-सिफारिश को जरूरत नहीं पड़ी। मुख्यमंत्री ने कहा, पिछले साढ़े 04 साल में हमारी सरकार ने करीब 40 लाख लोगों को आवास उपलब्ध करवाए हैं। 2017 से पहले पीएम आवास योजना में यूपी का कोई स्थान नहीं था। 25वें-27वें नम्बर पर था। 2017 में सरकार आने के बाद पीएम आवास हो या स्वनिधि, यूपी सबमें नम्बर एक है। योगी ने कहा कि आज ठेले-खोमचे वाले व्यवसायियों को व्यापार के लिए पैसा मुहैया कराया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी से पहले कभी किसी ने भी स्ट्रीट वेंडर के हितों के बारे में नहीं सोचा। महिला स्वावलम्बन के लिहाज से स्वयं सहायता समूहों के कार्यों की सराहना की। कार्यक्रम में नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन और राज्य मंत्री महेश गुप्ता ने भी अपने विचार रखे।

वर्चुअली आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री से बातचीत करते हुए पीएम आवास योजना और स्वनिधि योजना के लाभार्थियों ने सीएम को धन्यवाद दिया। प्रयागराज की सुशीला हों, मीरजापुर की निर्मला या फिर झांसी की रेशमा, सबने बारी-बारी से सीएम को बताया कि उन्हें आवास के लिए धनराशि पाने में कहीं भी न तो घूस देना पड़ा न ही सिफारिश करनी पड़ी। बाराबंकी की मंजू ने बताया कि आज उन्हें आवास की तीसरी क़िस्त मिली है। इससे पहले उन्हें मुफ्त बिजली और गैस कनेक्शन मिला,जनधन खाता खुला, आज महीने में दो बार राशन मिल रहा है। उन्होंने बताया कि उनके बच्चों की पढ़ाई भी फ्री में हो रही है। वहीं स्वनिधि योजना से लाभ लेकर आगरा शिल्पग्राम में चाय का ठेला लगाने वाले पवन और काशी में सब्ज़ी की दुकान लगाने वाली शीला देवी ने स्वनिधि योजना के माध्यम से मिले, रुपयों से उनके व्यापार में हुई बढ़ोतरी के लिए पीएम मोदी और सीएम योगी को धन्यवाद दिया। 

ललितपुर के ओम प्रकाश ने बताया कि बीते 30 साल से कभी किसी सरकार ने उन्हें कुछ न दिया, आज सब मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने ओमप्रकाश के मूक बघिर बेटे के इलाज के लिए सभी जरूरी प्रबंध के निर्देश भी दिए। वर्ष 2019 के पीएमएवाई अवार्ड अन्तर्गत नगर पालिका परिषद श्रेणी में नगर पालिका परिषद मिर्जापुर को पूरे देश में उत्कृष्ट प्रदर्शन हेतु प्रथम स्थान प्राप्त है। वर्ष 2019 के पीएमएवाई अवार्ड अन्तर्गत नगर पंचायत श्रेणी में नगर पचायत मलीहाबाद को प्रथम एवं हरिहरपुर को तृतीय स्थान प्राप्त है। उत्तर प्रदेश राज्य पूरे देश में डीबीटी द्वारा फन्ड ट्रान्सफर में पहले स्थान पर है। देश में स्वीकृत 06 लाइट हाउस प्रोजेक्ट में से 01 लाइट प्रोजेक्ट उत्तर प्रदेश के शहर लखनऊ में स्वीकृत एवं कार्य प्रगति पर है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन