गुरुद्वारा नाका हिण्डोला मे श्रद्धा के साथ मनाया गया श्री गुरुतेग बहादुर जी महाराज का 400वा प्रकाश उत्सव


लखनऊ। श्री गुरु तेग बहादुर जी महाराज के 400वें प्रकाश उत्सव (जन्मोत्सव) को समर्पित गुरमत चेतना समागम श्री गुरु सिंह सभा एवं दशमेश सेवा सोसाइटी की ओर से ऐतिहासिक गुरुद्वारा नाका हिण्डोला लखनऊ मे बड़ी श्रद्धा एवं सत्कार के साथ मनाया जा रहा है।

ऐतिहासिक गुरुद्वारा नाका हिंडोला के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह बग्गा ने इस मौके पर बोलते हुए कहा कि स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर गुरुद्वारा साहब में हर साल दशमेश सेवा सोसायटी दो दिवसीय समागम करती है ताकि हमारे नौजवान राष्ट्रीयता की भावना से ओतप्रोत होकर देश और कौम की सेवा में आगे आएं और अपने गौरवमई विरसे के साथ जुड़कर देश और कौम की सेवा करें। शाम का दीवान 6.00 बजे रहिरास साहिब के पाठ से दीवान आरम्भ हुआ जो रात्रि 09.30 बजे तक चला जिसमें  हजूरी रागी भाई राजिन्दर सिंह ने अपनी मधुर वाणी में शबद कीर्तन "सब तुदे पासों मंगदे नित कर अरदास" एवं समूह संगत को नाम सिमरन करवाया।

मुख्य ग्रन्थीे ज्ञानी सुखदेव सिंह ने श्री गुरु तेग बहादुर जी महाराज के द्वारा दी गई शिक्षाओं पर गुरमति विचारों प्रकट किये। कार्यक्रम का संचालन सतपाल सिंह मीत ने किया। सिमरन साधना परिवार के बच्चों ने भी इस कार्यक्रम में गुरबाणी कीर्तन द्वारा समूह साध संगत को निहाल किया समाप्ति के उपरान्त पुलाव का लंगर वितरित किया गया। सोसाइटी के संचालक मंडल के तजिन्दर सिंह व इन्दरजीत सिंह ने बताया कि 15 अगस्त 2021 को सायं 6.00 बजे से दीवान आरम्भ होगा जो रात्रि 09.30 बजे तक चलेगा। समाप्ति के उपरान्त पूड़ी आलू का लंगर वितरित किया जायेगा।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन