आपदा में अवसर या लापरवाही

बलिया। उत्तर प्रदेश सरकार एक तरफ वैश्विक महामारी कोरोना टीकाकरण को लेकर रोज नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है और टीकाकरण के लिए प्रयासरत है लेकिन इस प्रयास में कुछ लोग आपदा में अवसर भी मार रहे हैं।

ताजा मामला उत्तर प्रदेश के बलिया जनपद के कस्बा बासडीह कस्बा निवासी जवाहर प्रसाद मौर्या उम्र लगभग 60 वर्ष है जिन्होंने कोरोना टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था लेकिन पोस्ट कोविड लक्षण के कारण अभी तक कोई टीका नहीं लगवाया है। दिनांक 27.08.2021 को उनका बिना टीका लगे ही टीकाकरण का सर्टिफिकेट देवडीह प्राथमिक विद्यालय (27 Aug 2021) Batch 4121MC061 जारी हो गया तो क्या वास्तविक रूप से टीकाकरण के जो आकड़े जारी किए जा रहे हैं स्वास्थ विभाग के तरफ से वो वास्तव में सही है या स्वास्थ विभाग आपदा में अवसर बना रहा है।

ये एक अकेला मामला है या और भी हैं जांच का विषय है। लाभार्थी घर पर है और टीकाकरण बिना टीका लगे ही हो गया। क्या बलिया स्वास्थ विभाग के जिम्मेदार अधिकारी इसको लापरवाही का नाम देंगे या आपदा में अवसर? ये सवाल है। अब जो वास्तविक लाभार्थी है उसको टीका लगाएंगे अथवा इस योजना से वंचित रहेगा और रोज स्वास्थ विभाग के अस्पतालों में टीकाकरण के लिए चक्कर लगाएगा।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन