विधान परिषद में गूंजा जलजीवन मिशन घोटाला, जलशक्ति मंत्री जबाब देने के बजाय गए बौखला- संजय सिंह

लखनऊ। आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी एवम राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने बयान जारी कर एक बार फिर जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह के विभाग जल जीवन मिशन योजना के घोटाले पर हमला किया। उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश का जल जीवन मिशन का घोटाला एनआरएचएम से भी बड़ा घोटाला है, इस बात को पहले दिन से कह रहा हूं।
 
उन्होंने कन्नौज जनपद के जल निगम के अधिशासी अभियंता निर्दोष कुमार जौहरी के पत्र का जिक्र करते हुए कहा कि अधिशासी अभियंता निर्दोष कुमार जौहरी की चिट्ठी मेरे हाथ लगी है वह मेरे आरोपों की पुष्टि करती है, अधिशासी अभियंता निर्दोष कुमार जौहरी पत्र के माध्यम से कहते है कि कानपुर मंडल में जल निगम के द्वारा स्वीकृत दरों से ज्यादा 30% से 40% अधिक दरों पर जल जीवन मिशन में काम कराया जा रहा है और कहा की मेरे ऊपर मानसिक दबाव भी अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है कि बड़ी हुई दरें स्वीकृत करें। संजय सिंह ने कहा योगी सरकार जल जीवन मिशन के इस महा घोटाले की जांच कराने के बजाय मेरे ऊपर मुकद्दमे लिखवा रही है, मुझे डराने और धमकाने का काम कर रही है लेकिन मैं चुप बैठने वाला नहीं हूं भ्रष्टाचारियों को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाकर ही रहूंगा।
 
उन्होंने कहा कि विधान परिषद में समाजवादी पार्टी के आनंद भदौरिया, संजय लाठर और राजेश यादव ने जल जीवन मिशन घोटाले का मामला उठाया तो जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह बौखला कर अनापशनाप कहने लगे। संजय सिंह ने स्पष्ट रुप से कहा अधिशासी अभियंता निर्दोष कुमार जौहरी कि यह चिट्ठी मेरे आरोपों को सही साबित करती है। इसकी जांच सीबीआई से कराई जाए, सुप्रीम कोर्ट हाई कोर्ट मोनिटर्ड एसआईटी से कराई जाए तभी घोटालेबाजों का सच सामने आएगा और उन्हें जेल भेजा जा सकेगा जल जीवन मिशन एक महा घोटाला है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन